पटना में घर के बाहर टहल रही गर्भवती को अगवा कर सामूहिक दुष्कर्म, बेहोशी की हालत में छोड़कर भागे

राजधानी पटना के बेउर थाना क्षेत्र अंतर्गत सिपारा में शनिवार की देर रात घर के पास टहलने निकली गर्भवती को अगवा कर उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। तीन युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया और फिर उसे बेहोशी की हालत में पटना जंक्शन के पास रेल लाइन पर छोड़कर भागने लगे। इसी बीच महिला को होश आ गया और शोर मचाने पर जीआरपी पहुंच गई। जीआरपी ने दो आरोपितों को दौड़ाकर दबोच लिया। पीडि़ता को महिला थाने ले जाया गया। आरोपितों को भी महिला थाना पुलिस के हवाले कर दिया गया।

महिला थानाध्यक्ष किशोरी सहचरी ने बताया कि तीन आरोपितों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है। दो आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया गया है। उनकी पहचान विशाल और अंकित के रूप में हुई है। दोनों सिपारा के विशुनपुर पकड़ी के रहने वाले हैं। एक अन्य की तलाश में दबिश दी जा रही है। पीड़िता की मेडिकल जांच कराने के साथ फर्द बयान दर्ज किया गया है। सोमवार को कोर्ट में उसका बयान दर्ज कराया जाएगा।

फोन कर दोस्त को बुलाया 

24 वर्षीय विवाहिता मूल रूप से लखीसराय की रहने वाली है। एक साल पहले उसकी शादी हुई है। पति पेट्रोलियम कंपनी में काम करता है। शनिवार की रात पति काम पर गया था। रात करीब दस बजे महिला घर के बाहर टहलने के लिए निकली तभी दो युवक पहुंच गए। दोनों बदतमीजी करने लगे और फिर मुंह दबाकर उसे उठाकर पास के खेत में ले गए। इस दौरान एक युवक ने फोन कर अपने एक अन्य साथी को भी बुला लिया। महिला ने विरोध किया तो दोनों उसकी पिटाई करने लगे। तभी तीसरा आरोपित भी वहां पहुंच गया। आरोप है कि तीनों ने दुष्कर्म किया।

स्टेशन से फरार एक आरोपित 

पीडि़ता पुलिस को यह नहीं बता पा रही है कि चारों आरोपित उसे सिपारा से पटना जंक्शन की रेलवे लाइन तक कैसे ले गए? वह उस समय बेहोश थी। छानबीन में पता चला कि तीनों उसे सुबह होते ही बेहोशी की हालत में ही रेलवे लाइन के किनारे ले गए। उसे वहीं छोड़कर जाने लगे तभी महिला को होश आ गया और शोर मचाने लगी। शोर सुनकर गश्ती कर रही जीआरपी वहां पहुंच गई। आरोपित एक युवक स्टेशन के अंदर होते हुए फरार हो गया, जबकि विशाल और अंकित रेलवे लाइन के रास्ते ही भागने लगे। जीआरपी ने उन्हें दबोच लिया।