पटना चिड़ियाघर में दर्शकों के लिए फिर से शुरू होने जा रही ये ख़ास सुविधा, जानिए कब से उठा सकते हैं लुफ्त

पटना जू में बंद पड़े टॉय ट्रेन को फिर से शुरू करने की प्रक्रिया पर काम चल रहा है। एक बार फिर से पर्यटक इस बार ट्रेन पर बैठ कर पटना जू के नजारों का लुत्फ उठा सकते हैं। इसके लिए जो प्रशासन की railway के साथ उच्च स्तरीय बैठक चल रही है। रेलवे की तरफ से अब तक बने ट्रैक का दो बार निरीक्षण भी किया जा चुका है।

रेलवे का मैसूर वर्कशॉप बनाएगा नया ट्रैक।

बता दें कि साल 2015 से ही ट्रक में खराबी होने की वजह से पटना जो मेट्रो ट्रेन की सुविधा बंद कर दी गई है। अब पर्यावरण वन एवं जलवायु परिवर्तन विभाग की ओर से रेलवे के मैसूर वर्कशॉप को टॉय ट्रेन में उसके ट्रक बनाने के लिए पत्र लिखा गया है। उम्मीद की जा रही है कि नए साल के अवसर पर दर्शकों को यह सौगात मिल सकती है। बता दें कि अब नए सिरे से ट्रैक व ट्रेन को बनाया जाएगा। इसके लिए रेलवे के सेंट्रल वर्कशॉप मैसूर से जल्द ही टीम आकर ग्राउंड वर्ड ट्रैक का निरीक्षण करेगी।

बैटरी से संचालित होगी टॉय ट्रेन।

बता दें कि पहले पटना डीजल इंजन से टॉय ट्रेन संचालित होती थी लेकिन अब इसे बैटरी के माध्यम से चलाया जाएगा। इसके अलावा बोगियों की संख्या भी बढ़ाई जा सकती है। पहले टॉय ट्रेन में चार बोगी हुआ करती थी अब पांच किया जा सकता है। बढ़ी हुई क्षमता के बाद इस ट्रेन में 80 व्यस्क और 100 बच्चे बैठ सकेंगे।