पटना का रिंग रोड़ अब जुड़ेगा इस ज़िला के सड़क से, जानिए किन लोगों को मिलेगा फ़ायदा

छपरा को पटना रिंग रोड से जोड़ने के प्रस्ताव पर सहमति बन गई है। पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने शुक्रवार को इस संबंध में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के आला अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में राष्ट्रीय उच्च पथ (एनएच) से जुड़ी कई अन्य योजनाओं के बारे में सहमति बनी। यह तय हुआ कि भारतमाला शृंखला के तहत आमस-दरभंगा के बीच बनने वाली 189 किमी सड़क निर्माण की निविदा 15 नवंबर तक जारी कर दी जाएगी। भारतमाला शृंखला के तहत मुजफ्फरपुर से साहेबगंज (25 किमी), रक्सौल से सोनबरसा (90 किमी) तथा रक्सौल से कांटी तक 65 किमी लंबे सड़क निर्माण के प्रस्ताव पर भी सहमति बन गई है।

छपरा को पटना रिंग रोड से जोड़ने के लिए दिघवारा से छपरा तक एक नई सड़क का निर्माण होगा। इसके लिए डीपीआर तैयार किए जाने का काम एनएचएआइ द्वारा भारतमाला योजना के अंतर्गत किया जाएगा। मालूम हो कि दिघवारा से पटना के शाहपुर के बीच गंगा पर एक पुल का निर्माण कराया जाना है। यह पटना रिंग रोड से जुड़ रहा है। पटना रिंग रोड को दिघवारा से बिदुपुर तक भी जोड़ा जाना है। उत्तर हिस्से में पटना रिंग का यह एलायनमेंट पूर्व से स्वीकृत है। इसके लिए भी कंसलटेंट को एनएचएआइ द्वारा नियुक्त किया जाना है। इस हिस्से में गंडक नदी पर एक छह लेन पुल का निर्माण किया जाना है। हाजीपुर-मुजफ्फरपुर सड़क की क्षमता बढ़ाने को ले विस्तृत परियोजना रिपोर्ट एनएचएआइ द्वारा तैयार की जाएगी। वहीं एनएच-107 के निर्माण कार्य को मार्च 2022 तक पूरा तक लिए जाने का आश्वासन दिया गया।

दो लेन के नए पुल निर्माण का भी प्रस्ताव

बैठक में यह भी तय हुआ कि डुमरिया घाट के वर्तमान पुल के बगल में अर्द्धनिर्मित पुल का निर्माण पूरा किए जाने को ले एनएचएआइ द्वारा जल्द ही निविदा की जाएगी। इसके अतिरिक्त दो लेन के नए पुल निर्माण का भी प्रस्ताव है। बैठक में सड़क एवं भूतल परिवहन मंत्रालय के अपर सचिव आलोक कुमार घोष व अन्य आला अधिकारी मौजूद थे।

Note: तस्वीर काल्पनिक है।