पटना अंडरग्राउंड मेट्रो स्टेशन के लिये 1958 करोड़ का टेंडर जारी, देखिये किन इलाकों में बनेगा स्टेशन

बिहार की राजधानी पटना मेें मेट्रो ट्रेन चलाने की प्रक्रिया जोर पकड़ ली है. बताया जा रहा है कि शहर के कॉरिडोर-2 के अंडर आने वाले स्टेशनों को अंडरग्राउंड किया जाएगा, जिसके लिए करीब 1958 करोड़ का टेंडर जारी किया गया है. कॉरिडोर -2 के तहत गांधी मैदान, पीएमसीएच सहित 7 स्टेशन को अंडरग्राउंड किया जाएगा.

जानकारी के अनुसार कॉरिडोर-1 में दानापुर- मीठापुर-खेमनीचक होगा. इसमें 7.393 किमी उपरिगामी यानी एलिवेटेड होगा और भूमिगत 10.54 किमी होगा. इस प्रकार कुल 17.933 किमी में कॉरिडोर-1 बनेगा. वहीं कॉरिडोर-2 में पटना जंक्शन रेलवे स्टेशन- गांधी मैदान-पाटलिपुत्र आइएसबीटी शामिल है. 14.564 किमी के इस कॉरिडोर में कुल 6.638 किमी उपरीगामी और 7.926 भूमिगत होगा. इनमें पटना स्टेशन- भूमिगत, आकाशवाणी- भूमिगत, गांधी मैदान (Gandhi Maidan)- भूमिगत, पीएमसीएच- भूमिगत, पटना विश्वविद्यालय- भूमिगत, मोइन उल हक स्टेडियम- भूमिगत, राजेंद्र नगर- भूमिगत स्टेशन होगा.

जानिए पटना मेट्रो परियोजना के बारे में- पटना मेट्रो रेल परियोजना (Patna Metro Rail Project) के प्रस्ताव पर आवासन एवं शहरी कार्य मंत्रालय ने 13365.77 करोड़ का अनुमोदन प्रदान किया था. परियोजना लागत में 20 फीसदी राशि का आवंटन बिहार सरकार और 20 फीसदी राशि का आवंटन केंद्र सरकार करेगी और शेष 60 फीसदी राशि जायका द्वारा ऋण लिया जायेगा. गौरतलब है कि पटना मेट्रो रेल परियोजना के अनुमोदन के उपरांत पटना मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड का गठन हुआ. पटना मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के गठन के उपरांत मेट्रो रेल निर्माण से संबंधित कार्यान्वयन करने के लिए डिपोजिट टर्म पर दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड को दिया गया है.

वहीं पटना मेट्रो (Patna Metro) के ओवरहेड उपकरणों को लगाने पर करीब 144.65 करोड़ की लागत आयेगी. इसे 36 माह में पूरा किया जायेगा. इसमें कोरिडोर-एक और कोरिडोर-दो के साथ आइएसबीटी डिपो का भी काम है. पटना मेट्रो की निर्माण कंपनी दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (डीएमआरसी) ने इसके लिए निविदा आमंत्रित की है. 25 केवी के ओवरहेड सिस्टम से जुड़े उपकरणों की आपूर्ति, स्थापना, टेस्ट और चालू करने के सामूहिक कार्य के लिए करीब 36 माह का समय दिया गया है.

गौरतलब है कि पटना मेट्रो के सबसे पहले चरण में मलाही पकड़ी से बैरिया स्थित आइएसबीटी यानी नए बस स्टैंड तक मेट्रो सेवा शुरू करने की योजना है. इसके लिए कंकड़बाग 90 फुट रोड में पाइलिंग का काम भी जारी है।