निक्की प्रधान व सलीमा को रांची रेल मंडल ने किया सम्‍मानित, होगा प्रमोशन

टोक्यो ओलंपिक में बेहतर प्रदर्शन करने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम की खिलाड़ी निक्की प्रधान एवं सलीमा टेटे रेलवे में अफसर बनेंगी। दक्षिण पूर्व रेलवे जोन में दोनों को बेहतर जगह में नियुक्त करने की योजना बनी है। बुधवार को सीपीआरओ नीरज कुमार ने यह जानकारी दी।

साथ ही उन्होंने कहा कि रेल प्रशासन ने खिलाड़‍ियों का हमेशा उत्साह बढ़ाया है। खेल पदाधिकारी और सीनियर डीसीएम ने बताया कि अंडर-19 भारतीय टीम में शामिल रहे सुशांत मिश्रा और जूनियर हॉकी टीम में खेल चुकी संगीता कुमारी को रेलवे की ओर से बहाल किया गया है। इस दौरान उन्होंने बताया कि निक्की प्रधान 13 मार्च 2012 से रांची रेल मंडल के परिचालन विभाग में कार्यरत हैं। इन्होंने इस दौरान अंडर-17 एशिया कप 2011, अंडर 21 एशिया कप 2012, रियो ओलिंपिक 2016, एशिया कप 2017, एशियन गेम 2018 एवं टोक्यो ओलिंपिक 2020 में भारत का प्रतिनिधित्व किया है।

सलीमा टेटे 6 नवंबर 2019 को रेलवे में योगदान देकर रांची रेल मंडल के वाणिज्य विभाग में टिकट निरीक्षक के रूप में कार्यरत हैं। इन्होंने सातवीं हॉकी इंडिया जूनियर नेशनल वीमेन हॉकी चैंपियनशिप 2017, आठवीं हॉकी इंडिया जूनियर नेशनल वीमेन हॉकी चैंपियनशिप 2018, यूथ ओलिंपिक 2019, अंडर 23 छठा राष्ट्रीय आमंत्रण टूर्नामेंट 2018 एवं टोक्यो ओलिंपिक 2020 में शामिल रही हैं और अपने खेल से लोगों को मोहित किया है।

युवाओं को अवसर देता है रेलवे

दक्षिण-पूर्व जोन खिलाड़ियों को शुरू से रेलवे में नौकरी के साथ बेहतर प्रदर्शन करने का अवसर देता है। भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भी पहले दक्षिण पूर्व जोन के खड़गपुर मंडल में टिकट निरीक्षक पद पर काम कर चुके हैं। टाटानगर समेत जोन के विभिन्न स्टेशनों पर आज भी दर्जनों खिलाड़ी टिकट निरीक्षक, पार्सल क्लर्क एवं अन्य पद पर काम कर रहे हैं।