झारखण्ड से गोवा वाली ट्रेन इस दिन से हो रही शुरू, जानिए कितना है किराया

5 नवंबर से चलने वाली वास्को द गामा – जसीडीह सप्ताहिक ट्रेन में टिकटों की बुकिंग शुरू हो गई है। सेकंड सीटिंग से सेकंड एसी तक की सीटें खाली हैं। छठ में अगर गोवा, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश या छत्तीसगढ़ से झारखंड लौटना है तो बिना देर किए तुरंत टिकट बुक करा लें। गोवा से झारखंड जाने वाली ट्रेन के लिए रेलवे ज्यादा किराया ने नहीं खुलेगी। नियमित ट्रेनों के तर्ज पर सामान्य किराया चुका कर ही सफर कर सकते हैं। जसीडीह से वास्को-द- गामा के लिए 8 नवंबर से ट्रेन चलेगी। जसीडीह से टिकटों की बुकिंग अभी शुरू नहीं हुई है। एक-दो दिन में शुरू होने की संभावना है।

हैदराबाद रक्सौल का विकल्प बनेगी ट्रेन

जसीडीह – वास्को द गामा ट्रेन सिकंदराबाद दरभंगा रक्सौल हैदराबाद के वैकल्पिक ट्रेन के रूप में चलेगी। जसीडीह से सिकंदराबाद तक तक का टाइम टेबल दरभंगा सिकंदराबाद और रक्सौल हैदराबाद के जैसा ही है। ऐसे में आंध्र प्रदेश से लौटने वाले यात्रियों को इस रूट के लिए एक और ट्रेन का विकल्प मिल जाएगा। छत्तीसगढ़ आने जाने वालों को भी एक और नई ट्रेन मिल जाएगी।

वस्को द गामा से धनबाद तक किराया और खाली सीटें

– सेकंड सीटिंग में 365 सीटें खाली और किराया ₹520

– स्लीपर 234 सीटें खाली किराया ₹835 रुपए

– थर्ड एसी 29 सीट खाली किराया 2200 रुपए

– सेकेंड एसी 9 सीट खाली किराया 3220 रुपए

डीसी लाइन होकर नई ट्रेन

जसीडीह – वास्को द गामा एक्सप्रेस के चलने से धनबाद चंद्रपुरा रेल लाइन को एक और नई ट्रेन मिल जाएगी। इसके साथ ही डीसी लाइन के कतरास और चंद्रपुरा स्टेशन से सफर करने वाले यात्रियों को भी गोवा, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और छत्तीसगढ़ के लिए सीधी ट्रेन मिलेगी। इन दोनों स्टेशनों से होकर ही दरभंगा सिकंदराबाद और रक्सौल हैदराबाद एक्सप्रेस भी चलती है। पर दोनों ट्रेनों का कतरासगढ़ और चंद्रपुरा में ठहराव नहीं है। जसीडीह – वास्को द गामा एक्सप्रेस का ठहराव कतरास और चंद्रपुरा दोनों स्टेशनों पर होगा। इस ट्रेन के ठहराव होने से कतरास के यात्रियों को 25 – 30 किलोमीटर दूर धनबाद आकर ट्रेन नहीं पकड़नी होगी न ही चंद्रपुरा के यात्रियों को बोकारो जाना होगा।