Homeझारखंडझारखण्ड मे स्कूलों का समय फिर से बदल दिया गया है, देखिये...

झारखण्ड मे स्कूलों का समय फिर से बदल दिया गया है, देखिये नया टाइम टेबल

झारखंड के सरकारी स्कूलों का समय एक बार फिर बदलने जा रहा है। स्कूलों का संचालन अब सुबह छह बजे से 10.30 बजे तक हो सकेगा। शिक्षा मंत्री की मंजूरी और विभाग की अधिसूचना के बाद इसे लागू कर दिया जाएगा। राज्य में पड़ रही गर्मी को देखते हुए एक महीने में तीसरी बार स्कूलों के समय में परिवर्तन किया जा रहा है।

हर वर्ष एक अप्रैल से तीन जून तक सुबह 6.30 बजे से 11.30 बजे तक मॉर्निग स्कूल होती रही है। इस साल से इसमें बदलाव किया गया। एक अप्रैल को शिक्षा विभाग ने सुबह सात बजे से दोपहर एक बजे तक स्कूल संचालन का निर्देश दिया। शिक्षक संघों के भारी विरोध और स्कूलों में बच्चों की तबीयत बिगड़ने के बाद 13 अप्रैल को ही शिक्षा विभाग ने स्कूल अवधि में एक घंटा घटा दी गई।

स्कूलों का संचालन सुबह छह बजे से 12 बजे तक कर दिया गया। इससे भी छात्र-छात्राओं के बीमार पड़ने की नियमित सूचनाएं मिल रही हैं। गर्मी, लू और खाली पेट की वजह से बच्चे स्कूल में ही बेहोश हो रहे हैं।

10 बजे के बाद बच्चों को मिड डे मील मिल पा रहा है, जिससे उनके स्वास्थ्य पर पर असर तो पड़ ही रहा है, पढ़ाई भी ढंग से नहीं हो पा रही है। इसको लेकर अभिभावक संघ ने भी सरकार ने गुहार लगाई थी।

शिक्षक संघों ने इसको शिक्षा मंत्री और शिक्षा सचिव से गुहार लगाई थी। इसके बार शिक्षा विभाग ने सुबह छह बजे से 10.30 बजे तक के स्कूल संचालन का प्रस्ताव तैयार कर उसकी मंजूरी के लिए मंत्री के पास भेजा है। पहली से 11वीं तक के बच्चों के लिए यह व्यवस्था लागू रहेगी। गर्मी को देखते हुए कई निजी स्कूल अपने हाई स्कूलों के बच्चों को सुबह छह से 10 बजे तक पढ़ा रहे हैं। वही, कई स्कूलों में बच्चों की ऑफलाइन क्लास बंद कर ऑनलाइन क्लास शुरू कर दी है।

शिक्षकों को 12 बजे तक रहना पड़ सकता है: स्कूलों में 10.30 बजे बच्चों की छुट्टी हो जाएगा, लेकिन शिक्षकों को 12 बजे तक रहना पड़ सकता है। इस अवधि में वे स्कूलों की गैर शैक्षणिक कार्य को पूरा करेंगे। शिक्षकों को अनिवार्य रूप से बायोमेट्रिक हाजिरी बनानी होगी। इसमें उन्हें स्कूल आने और समय अपनी उपस्थिति दर्ज करनी होगी।

छुट्टी के समय मिलेगा मिड-डे-मील

स्कूलों में सुबह छह बजे से 10.30 बजे तक क्लास चलने के बाद पहली से आठवीं के बच्चों को छुट्टी के बाद मिड डे मील मिल सकेगा। स्कूलों को सुबह 10 बजे के बाद पका हुआ मध्याह्न भोजन उपलब्ध कराने की अनुमति होगी। कोविड के मापदंडों के अनुसार मध्याह्न भोजन तैयार किया जाएगा और उसका वितरण किया जाएगा।

Most Popular