झारखण्ड में 150 करोड़ के लागत से 13 योजनाओं को किया जाएगा पूरा, जानिए पूरा डिटेल

पर्यटन के लिहाज से रांची के हुंडरू फॉल को जोड़ने वाली सड़क चकाचक होगी। राज्य सरकार के पथ निर्माण विभाग ने ओरमांझी, सिकिदरी के रास्ते हुंडरू फॉल तक जाने वाली 23.5 किलोमीटर लंबी सड़क के मजबूतीकरण का फैसला लिया है।

इसके लिए 16 करोड़ 95 लाख 56 हजार रुपये की योजना की प्रशासनिक स्वीकृति दी गई है। गौरतलब है कि ओरमांझी से हुंडरू फॉल तक जाने वाली सड़क एनएच 33 को पर्यटनस्थल हुंडरू फॉल से जोड़ती है। इस पथ से रांची, बाकारो, धनबाद, गिरिडीह, जामताड़ा, दुमका समेत कई जिलों के साथ-साथ पश्चिम बंगाल से आने वाले वाहनों का आवागन होता है। राज्य सरकार ने इस दौरान कुल 150 करोड़ की 13 योजनाओं को मंजूरी दी है। सभी योजनाओं की प्रगति व समीक्षा प्रतिमाह मुख्य अभियंता करेंगे।

समस्या भी है 

वर्तमान में ओरमांझी से हुंडरू की सड़क कई जगहों पर ठीक नहीं है। इस कारण जलजमाव की स्थिति उत्पन्न हो रही है। पथ में भारी वाहनों और सघन यातायात को ध्यान में रखते हुए सुरक्षात्मक दृष्टिकोण से इस रास्ते को मजबूत किया जा रहा है।

ये हैं योजनाएं

● धनबाद के बिरसा मुंडा चौक से संत निरंकारी चौक तक राइडिंग क्वालिटी में सुधार के लिए 2 करोड़ 64 लाख 67 हजार 400 रुपये की स्वीकृति। यह योजना 2021-22 वित्तीय वर्ष तक समाप्त होनी है।

● देवघर के घोरमारा से बदिया पथ की 24 किलोमीटर सड़क के मजबूतीकरण पर 17 करोड़, 73 लाख 93 हजार 900 रुपये की प्रशासनिक स्वीकृति। दो वित्तीय वर्षों में योजना पूरी करने का लक्ष्य।

● धनबाद के झरिया-बलियापुर रोड के 11.44 किलोमीटर का चौड़ीकरण व पुलों के पुनर्निर्माण पर 44 करोड़ 49 लाख 77 हजार 600 रुपये की स्वीकृति मिली है। इस योजना को दो वित्तिय वर्ष में पूरा करने का लक्ष्य है।

● लातेहार के नवरंग चौक से रेलवे स्टेशन औरंगा नदी के 1.1 किलोमीटर पथ के मजबूतीकरण पर 46 लाख 90 हजार की योजना को स्वीकृति मिली है।

● धनबाद के बलियापुर-पतलाबाड़ी पथ पर 29.76 किलोमीटर सड़क की क्वालिटी सुधार के लिए 17 करोड़ 8 लाख की योजना की स्वीकृति मिली है। इसे भी दो वित्तीय वर्षों में पूरा किया जाना है।