झारखण्ड में 1 से 5 तक के स्कूल जल्द खुल सकती है, जानें सरकार की तैयारी

झारखंड में फिलहाल वर्ग छह से 12वीं तक चार घंटे ही संचालित हो रही है, जबकि सामान्य दिनों में छह घंटे तक संचालन होता है. इसके अलावा विद्यालय स्तर की परीक्षा ऑफलाइन लेने पर रोक है. हालांकि, राज्य सरकार के आदेश के बाद बीते अगस्त में कक्षा 9वीं से 12वीं और सितंबर में कक्षा छह से आठ तक की ऑफलाइन कक्षा शुरू कर दी गई है. अब राज्य में कोरोना संक्रमण का प्रभाव कम होने के साथ ही स्कूलों को पूरी तरह खोलने की तैयारी हो रही है. अब एक से पांच तक की कक्षा के संचालन पर निर्णय लिया जा सकता है.

बता दें कि कक्षा एक से पांच तक के बच्चों का कक्षा संचालन 17 मार्च 2020 से बंद है. लेकिन, मिली जानकारी के अनुसार अब वर्ग एक से पांच तक की क्लास शुरू किए जाने को लेकर स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने एक प्रस्ताव तैयार किया है. विभाग ने भी इसके अनुरूप ही विद्यालयों में कक्षा संचालन पहले की ही तरह छह घंटा करने और विद्यालय स्तर की परीक्षा ऑफलाइन लेने की तैयारी की है. इसका प्रस्ताव आपदा प्रबंधन विभाग को भेजा गया है. वहां से अनुमति मिलने पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

अगर राज्य सरकार ने कक्षा संचालन शुरू करने का आदेश दिया तो इसके बाद बच्चों को विद्यालय में ही मध्याह्न भोजन (मिड डे मील) देने पर विचार किया जा सकता है. बता दें कि वर्तमान में स्कूलों में मध्याह्न भोजन देने पर रोक है. इस कारण ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं, उनका स्वास्थ्य भी प्रभावित हो रहा है.

गौरतलब है कि फिलहाल स्कूलों का संचालन छह घंटा होने पर सामान्यत: सात घंटी कक्षा का होता है. इसमें लंच ब्रेक भी रहता है. वर्तमान में स्कूलों में लंच ब्रेक नहीं मिलता है और चार से पांच घंटी कक्षा संचालन किया जाता है. वर्ष 2022 की मैट्रिक व इंटर की परीक्षा दो चरणों में होगी. पहले चरण की परीक्षा दिसंबर में होने की संभावना है.