झारखण्ड-बिहार-यूपी को जोड़ने के लिये रोहतास में बनेगा नया पुल, देखिये कब तक बन कर हो जाएगा तैयार

रोहतास के पंडुका में सोन नदी पर दो लेन सेतु तथा इसके पहुंच पथ बनाने का रास्ता साफ हो गया है। केंद्रीय सड़क एवं अवसंरचना निधि में बिहार राज्य की हिस्सेदारी से बनने वाले इस पुल की प्रशासनिक स्वीकृति राज्य सरकार ने दे दी है। निर्माण बिहार राज्य पुल निगम करेगा। 210 करोड़ 13 लाख की लागत से मार्च 2024 तक यह तैयार होगा। इसके बन जाने से रोहतास जिले का पलामू से संपर्कता के साथ ही इससे बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश भी जुड़ जाएगा। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में इसकी स्वीकृति दी गई।

कैबिनेट में कुल छह प्रस्तवों को मंजूर किया गया। कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने ऑनलाइन प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसकी जानकारी दी। झारखंड में गढ़वा जिले के श्रीनगर और बिहार में रोहतास जिले में नौहट्टा के पंडुका के बीच यह पुल बनेगा। पुल की डीपीआर तैयार है। पुल के साथ लगभग 68 किमी नई सड़क भी बनेगी।

पुल निर्माण पर खर्च होंगे 210 करोड़ रुपये

मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि रोहतास में सोन नदी पर पंडुका के पास पुल बन जाने से बिहार-झारखंड-उत्तर प्रदेश जुड़ जाएंगे। जिससे तीनों राज्य के नागरिकों और वाहनों को काफी सहूलियत हो जाएगी। पुल का निर्माण केंद्रीय सड़क एवं आधारभूत संरचना निधि से होगा। करीब 210.13 करोड़ रुपये की कुल लागत आएगी।

गढ़वा के श्रीनगर और रोहतास के पंडुका के बीच करीब दो किमी लंबे पुल के बन जाने से गढ़वा जिले के मझिआंव, कांडी, विशुनपुरा, बरडीहा, भवनाथपुर आदि प्रखंड के लोगों को वाराणसी जाने के लिए 80 किलोमीटर की दूरी कम तय करनी होगी। पलामू, लातेहार, लोहरदगा, गुमला आदि जिलों के अलावा छत्तीसगढ़ की ओर से आने वाले यात्रियों को जीटी रोड पकड़ने या वाराणसी जाने के लिए तीसरा विकल्प उपलब्ध हो जायेगा।

– 2.2 किलोमीटर लंबा होगा यह बहुप्रतीक्षित पुल

– 210 करोड़ की लागत से बनाया जाएगा पुल

– 80 किलोमीटर तक घट जाएगी बनारस की दूरी

– 2024 तक तैयार हो जाएगा यह पुल