झारखण्ड के इस नदी पर बनेगा रांची रेल मंडल का सबसे लंबा ब्रिज, देखिये कब तक बनकर हो जायेगा तैयार

रांची रेल मंडल के अंतर्गत कोयल नदी पर रेलवे का सबसे लंबा ब्रिज का निर्माण कार्य हो रहा है। यह 218 मीटर लंबा ब्रिज होगा। रेलवे के अभियंता इसे 2024 तक पूर्ण कर लेंगे। कुरकुरा स्टेशन के निकट इसका निर्माण कार्य चल रहा है। कोयल ब्रिज हटिया-बंडामुंडा सेक्शन में आएगा। इस सेक्शन का डबलिंग का कार्य चल रहा है। इसके तहत इसका निर्माण किया जा रहा है। इसके बनने से ट्रेन की गति भी तेज होगी। ब्रिज के निर्माण के दौरान फाउंडेशन के लिए ब्लास्टिंग किया जा रहा है।

इसमें खास ख्याल रखा गया है कि पुराने रेलवे ब्रिज को किसी भी तरह का नुकसान न हो। इसके लिए सीएमआरई कंसल्‍टेंट का सहयोग लिया गया है, जिसकी देखरेख में काम हो रहा है। पुराने ब्रिज के 25 मीटर की दूरी पर ब्रिज का निर्माण किया जा रहा है। हटिया बंडामुंडा सेक्शन 159 किलोमीटर का है, जहां विभिन्न सेक्शनों में तेजी से निर्माण कार्य चल रहा है। कुछ सेक्शनों में फॉरेस्ट क्लीयरेंस का मामला अभी लंबित है।

पर्यटन को दिया जा सकता है बढ़ावा

इसकी खासियत यह है कि ब्रिज जंगलों और खूबसूरत वादियों के बीच होगा। पहाड़ और जंगलों के बीच पुल के स्थित होने से इसकी खूबसूरती बेहद आकर्षक होगी। स्थानीय प्राकृतिक सौंदर्य इसे और खास बनाएगा। लिहाजा यह पुल पर्यटकों के साथ-साथ फोटोग्राफी के लिए पहली पसंद बनेगी। भविष्य में लोग यहां घुमने के साथ-साथ खास तौर पर फोटोग्राफी करने आएंगे।

उल्लेखनीय है कि रांची रेल मंडल में ही लोहरदगा जिले के नामुदाग फॉरेस्ट डिविजन में लोहरदगा-टोरी रेलखंड पर राज्‍य का सबसे ऊंचा रेलवे ब्रिज बनाया गया है। लोहरदगा सेक्शन वाले इस पुल को खूब प्रसिद्धि मिल रही है। यह पर्यटक स्थल के रूप में भी उभर रहा है। वहीं कोयल ब्रिज दूसरा लंबा ब्रिज होने से यहां भी लोग आएंगे।