Homeझारखंडझारखण्ड के इस गांव मे एक रिक्शा चालक बना मुखिया, लोगों ने...

झारखण्ड के इस गांव मे एक रिक्शा चालक बना मुखिया, लोगों ने चंदा दे कर जिताया

राहे प्रखंड क्षेत्र के राहे पंचायत के पुरनानगर निवासी रिक्शा चालक कृष्णा पातर मुंडा मुखिया बन गये हैं. वह लगातार तीसरी बार मुखिया पद के लिए चुनाव लड़े़ चुनाव लड़ने के लिए उनके पास कुछ भी नहीं था. ग्रामीणों ने चंदा कर उनका हौसला बढ़ाया और अंतत: उन्होंने जीत दर्ज की. उनके पास साइकिल तक नहीं है. ग्रामीणों ने ही मोबाइल फोन खरीद कर दिया.

कृष्ण पातर मुंडा विगत 10 वर्षों से रोजाना बस से रांची जाकर रिक्शा चलाकर परिवार का भरण-पोषण कर रहे हैं. ग्रामीण कृष्णा को पूर्व से ही मुखिया कह कर बुलाते थे. परिवार में पत्नी व चार बेटियां हैं. कृष्णा ने बताया कि चुनाव जीतने के बाद जनप्रतिनिधि गरीबों का काम नहीं करते हैं, लेकिन उनके साथ ऐसा नहीं है़ वे गरीब परिवार से आते हैं, गरीबी में जीवन गुजार रहे हैं. गरीबों ने ही उन्हें चुना है. अब चुनाव जीत गये हैं, तो हर वर्ग के लोगों के लिए काम करेंगे.

500 पंचायतों के नतीजे जारी, दूसरे चरण का मतदान कल

रांची. राज्य के 21 जिलों में 72 प्रखंडों के 1,127 ग्राम पंचायतों में संपन्न पंचायत चुनाव के पहले चरण की मतगणना जारी है. मतपत्रों पर चुनाव होने के कारण मतों की गिनती में समय लग रहा है. हालांकि, लगभग 500 ग्राम पंचायतों में परिणाम घोषित कर दिये गये हैं. शेष जगहों पर वोटों की गिनती जारी है. वहीं दूसरे चरण के लिए 19 मई को मतदान होगा.

दूसरे चरण की मतगणना 22 मई को होगी. इस चरण में कुल 7,029 पदों के लिए चुनाव कराया जायेगा. पंचायत चुनाव के पहले चरण में ग्राम पंचायत सदस्य के 3,707, मुखिया के 1,117, पंचायत समिति सदस्य के 1,256 व जिला परिषद के 143 पदों पर चुनाव हो चुका है. दूसरे चरण में 19 मई को जिन पदों के लिए चुनाव कराया जा रहा है, उनमें ग्राम पंचायत सदस्य के 5,123, मुखिया के 866, पंचायत समिति सदस्य के 938 व जिला परिषद सदस्य के 102 पद शामिल हैं.

Most Popular