Homeझारखंडझारखण्ड के इन जिलों मे दिखेगा तूफ़ान का असर, अगले 7 दिनों...

झारखण्ड के इन जिलों मे दिखेगा तूफ़ान का असर, अगले 7 दिनों तक होगी बारिश

झारखंड में आज के बाद चक्रवाती तूफान आसनी का असर दिखेगा। दक्षिणी अंडमान सागर के ऊपर शुक्रवार को निम्न दबाव का क्षेत्र बनने से चक्रवाती तूफान आसनी आने के आसार हैं। मौसम विभाग ने इस तूफान के आंध प्रदेश और ओडिशा तट पर अगले सप्ताह की शुरुआत तक पहुंचने की आशंका जताई है। तूफान का असर झारखंड और बंगाल में भी नजर आने की संभावना है। तूफान का असर झारखंड में पड़ने की पूरी संभावना है।

मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में बताया है कि रांची और इसके आसपास 8 मई तक आसमान में आंशिक बादल छाए रहेंगे। 9, 10, 11 व 12 मई को बारिश की संभावना है। बता दें कि दक्षिण अंडमान सागर और दक्षिण-पूर्व बंगाल की खाड़ी में बना निम्न दबाव का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ सकता है। मौसम विज्ञान केंद्र रांची के वरीय विज्ञानी अभिषेक आनंद ने बताया कि निम्न दबाव का क्षेत्र उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने के आसार हैं। जिससे बंगाल की खाड़ी के पूर्व-मध्य में एक चक्रवाती तूफान उत्पन्न होगा। हालांकि अभी तक कोई पूर्वानुमान नहीं लगाया गया है कि यह कहां सबसे पहले आएगा। उन्होंने कहा कि चक्रवाती तूफान की गति समुद्र में 80-90 किलोमीटर प्रति घंटे रहने की संभावना है। जिसका असर झारखंड के दक्षिणी, मध्य व उत्तरी क्षेत्र में भी देखने को मिल सकता है।

मिल रही है गर्मी से राहत

पिछले 24 घंटों में राजधानी रांची में कहीं कहीं गर्जन व वज्रपात के साथ साथ हल्की बारिश के बाद तापमान में गिरावट दर्ज किया गया है। लोगों ने राहत की सांस ली है। दक्षिणी अंडमान सागर और उसके आसपास का क्षेत्र लो प्रेशर एरिया में तब्दील होने की संभावना है। कम दबाव के प्रभाव से ओडिसा, बंगाल व झारखंड के कई जिलों में बारिश हो रही है। राज्य में सबसे अधिक बारिश 17.6 मिमी धनबाद के पुटकी में दर्ज की गई है। वहीं तापमान की बात करें तो डाल्टेनगंज का तापमान सबसे अधिक 40.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। जबकि सबसे कम न्यूनतम तापमान रांची का 21.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है।

वरीय विज्ञानी अभिषेक आनंद ने बताया कि झारखंड और पश्चिम बंगाल में अंडमान निकोबार में बन रहे निम्न दबाव क्षेत्र का असर कई हिस्सों में देखने को मिलेगा। पिछले कुछ दिनों से रुक रुककर हो रही बारिश से राजधानी समेत सूबे के सभी जिलों के तापमान में गिरावट दर्ज की गई है। मौसम विभाग द्वारा जारी रिपोर्ट में कहा गया कि राज्य के दक्षिण पूर्वी यानी पूर्वी व पश्चिमी सिंहभूम, सिमडेगा, सरायकेला खरसावां समेत पूर्वी हिस्से यानी देवघर, दुमका, गोड्डा, जामताड़ा, गिरिडीह, पाकुड़ व साहेबगंज के अलावे मध्य भाग यानी रांची, रामगढ़, बोकारो, गुमला, हजारीबाग व खूंटी में बारिश का पूर्वानुमान है। साथ ही 11 मई को इन जिलों में 30-40 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से हवा बहने को लेकर येलो अलर्ट भी जारी किया गया है।

Most Popular