Homeझारखंडझारखण्ड के इन जिलों में 7 डिग्री से नीचे पंहुचा तापमान, जानिए...

झारखण्ड के इन जिलों में 7 डिग्री से नीचे पंहुचा तापमान, जानिए अपने शहर का हाल

लगातार बढ़ रही ठंड के बीच राज्य सरकार ने शीतलहर से बचाव का अलर्ट जारी किया है। सभी जिलों के उपायुक्तों और सिविल सर्जन को ठंड से बचाव के विशेष उपाय करने के निर्देश दिए गए हैं। केंद्र की ओर से जारी गाइडलाइन का भी पालन करने को कहा गया है। उधर, राज्य के सभी हिस्सों में सोमवार को ठंड और कनकनी बढ़ी रही। रांची के मैकलुस्कीगंज में न्यूनतम तापमान 0.5 पर पहुंच गया। यहां घास और पुआल पर ओस जमने लगी है। वहीं कांके का न्यूनतम तापमान 3.2 और रांची का तापमान 6.7 डिग्री दर्ज किया गया।

तापमान सात ड‍िग्री सेल्‍स‍ियस से नीचे

राज्य के कई जिलों में तापमान 7 डिग्री सेल्सियस से नीचे चला गया है। रांची, रामगढ़, हजारीबाग, चतरा, कोडरमा, गढ़वा, लातेहार, पलामू, लोहरदगा, गढ़वा, बोकारो आदि जिलों में ज्यादा ठंड है। मौसम विभाग ने मंगलवार को भी इन जिलों में न्यूनतम तापमान 4 से 5 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना जताई है।

सभी उपायुक्‍तों को कराया गया सतर्क

उधर, स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह ने सभी उपायुक्तों व सिविल सर्जनों को ठंड व शीतलहर को लेकर सतर्क रहने तथा इससे लोगों के बचाव को लेकर आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने केंद्र सरकार द्वारा जारी एडवाइजरी को भी भेजते हुए उसका अनुपालन कराने को कहा है।

एडवाइजरी को लागू करना जरूरी

अपर मुख्य सचिव ने कहा है कि पूरे देश में शीतलहर चल रही है। झारखंड में भी इसे लेकर सतर्क रहने की जरूरत है। इसके दुष्परिणामों से बचाव, रोकथाम के नियंत्रण के उद्देश्य से राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र द्वारा जारी एडवाइजरी को लागू करना जरूरी है। साथ ही इससे बचाव को लेकर व्यापक जानकारियां प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों के बीच लाई जाए। इधर, केंद्र द्वारा जारी एडवाइजरी में कहा गया है कि देश के 17 राज्य शीतलहर के जोन में आते हैं। इनमें झारखंड भी शामिल है।

खाने में इसका रखें ध्यान

पर्याप्त भोजन कर बाहर निकलें। यथासंभव पानी पीएं। ठंडा खाना खाने एवं ठंडा पेय पदार्थ पीने से बचें। उच्च कैलोरी वाले भोज्य पदार्थ का सेवन करें।

बच्चों को ऐसे बचाएं ठंड से

ठंड में बच्चों का विशेष ध्यान रखें। बच्चे को अधिक देर ठंड में न रहने दें। बच्चों के सर, चेहरा, गला एवं पांव को अच्छी तरह से ढंक कर रखें। बच्चों को एक के ऊपर एक कपड़े पहनाएं। यह उन्हें गर्म रखेगा। बच्चों के तापमान की जांच करते रहें।

Most Popular