झारखंड में DL, परमिट समेत इन चीजों को बनानें में लगेगा ज्यादा शुल्क, देखिये नया रेट

झारखंड में गुरुवार से परिवहन संबंधी शुल्क महंगा हो जायेगा. बुधवार को परिवहन विभाग के संयुक्त सचिव ब्रजेंद्र हेमरोम के हस्ताक्षर से झारखंड मोटरगाड़ी (संशोधन) नियमावली 2021 की अधिसूचना जारी कर दी गयी. गजट का भी प्रकाशन हो गया है. यानी अब वाहनों का परमिट, ड्राइविंग व लर्निंग लाइसेंस लेना हो या फिर परिवहन संबंधी कोई और शुल्क सभी मेें बढ़ोतरी की गयी है.

झारखंड मोटरगाड़ी (संशोधन) नियमावली 2021 को 27 जुलाई को कैबिनेट से मंजूरी दी गयी थी. परमिट सहित अन्य चीजों के शुल्क में करीब दोगुनी तक बढ़ोतरी की गयी है. बसों को पांच साल के स्थायी परमिट के लिए 6000 की जगह अब 9000 रुपये चुकाने होंगे.

वहीं, मालवाहक वाहनों को परमिट के लिए दो की जगह चार हजार रुपये शुल्क देने होंगे. इसी तरह लर्निंग लाइसेंस के लिए 100 की जगह 200 रुपये और ड्राइविंग लाइसेंस के लिए 300 की जगह 500 रुपये का भुगतान करना पड़ेगा.

  • विशेष सवारी गाड़ी, पांच साल का परमिट शुल्क : 9000 रुपये
  • बस, पांच साल का स्थायी परमिट शुल्क : 9000 रुपये
  • विशेष मोटर कैब के लिए स्थायी परमिट शुल्क : 3000 रुपये
  • विशेष मोटरकैब का पांच साल का परमिट शुल्क: 9000 रुपये
  • मीटर के साथ कैब, कार का स्थायी परमिट शुल्क : 4000 रुपये
  • दो क्षेत्रों के लिए कार का परमिट शुल्क : 6000 रुपये
  • अस्थायी परमिट के लिए आवेदन शुल्क: 1000 रुपये
  • समय सारिणी परिवर्तन शुल्क: 5000 रुपये
  • अस्थायी मालवाहक व सवारी गाड़ी परमिट के लिए शुल्क : 500 रुपये
  • मालवाहक के स्थायी परमिट के लिए आवेदन शुल्क : 1000 रुपये
  • मीटर के साथ कैब का दो क्षेत्रों के लिए पांच साल का परमिट शुल्क: 6000 रुपये
  • कैब में एक या अधिक क्षेत्रों का परमिट शुल्क : 15000

परमिट, ड्राइविंग लाइसेंस सहित अन्य तरह के शुल्क में बढ़ोतरी

मद पहले अब

  • लर्निंग लाइसेंस 100 200
  • ड्राइविंग लाइसेंस 300 500
  • लाइसेंस रिनुअल 150 300
  • दस्तावेज प्रति शुल्क 150 300
  • चालक अनुज्ञप्ति प्रति शुल्क 50 100
  • मेडिकल सर्टिफिकेट शुल्क 60 150
  • योग्यता प्रमाण पत्र 120 250