Homeझारखंडझारखंड में नई शिक्षा प्रणाली होगी विकसित, हर पंचायतों में खुलेंगे डिजिटल...

झारखंड में नई शिक्षा प्रणाली होगी विकसित, हर पंचायतों में खुलेंगे डिजिटल पाठशाला, की जाएगी यह खास व्यवस्था

झारखंड के सभी जिलों में नई शिक्षा प्रणाली की विकसित करने की तैयारी की जा रही है. इसके लिए डिजिटल शिक्षा अभियान को लेकर राज्य के सभी जिलों में एक मुहिम के तौर पर डिजिटल पंचायत पाठशाला खोले जायेंगे. इसकी जानकारी रांची प्रेस क्लब में आयोजित एक कार्यशाला के दौरान डिजिटल पंचायत पाठशाला के संस्थापक सौरभ कुमार ने दी. उन्होंने कहा इसका मकसद ग्रामीण भारत को डिजिटल प्लेटफार्म से जोड़कर एक नई शिक्षा प्रणाली विकसित करना है. बता दें, डिजिटल पंचायत पाठशाला में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा और सामाजिक सरोकार नि:शुल्क दी जाएगी.

झारखंड बनेगा पूरे देश का माडल
सौरभ ने कहा कि झारखंड को हम पूरे देश का डिजिटल पंचायत पाठशाला के तौर पर एक माडल बनाने जा रहे हैं. आदिवासी समुदाय के समाज का डिजिटलीकरण कर एक नया आयाम स्थापित किया जाएगा. साथ ही ग्रामीण तबकों की प्रतिभाओं की पहचान कर राष्ट्रीय स्तर पर ग्रामीण नौजवानों की प्रतिभा का सम्मान किया जाएगा.

कार्यशाला में श्रम एवं नियोजन विभाग के सहायक निदेशक निशिकांत मिश्रा ने कहा कि यह मुहिम अपने आपमें न सिर्फ नायाब है बल्कि ग्रामीण प्रतिभाओं को जिम्मेदारी के साथ डिजिटल माध्यमों से जोड़कर उनके समग्र विकास का यह पाठशाला नया रास्ता खोल सकता है. झारखंड सरकार पहले से ही इस तरह के योजनाओं पर काम कर रही थी.

परिणाम सकारात्मक रहा है
कार्यशाला में डिजिटल पंचायत पाठशाला के बिहार झारखंड के को-आर्डिनेटर दिनेश्वर झा ने कहा इस मुहिम का पायलट प्रोजेक्ट सबसे पहले देश के 80 से अधिक नवोदय विद्यालयों में किया गया. जिसका परिणाम बहुत सकारात्मक रहा. फिर हम लोगों ने बिहार के 70 से अधिक पंचायतों में डिजिटल पंचायत पाठशाला को एक मुहिम के तौर पर डिजिटल आंदोलन के रूप में परिवर्तित किया. अब हम लोग झारखंड में डिजिटल पंचायत पाठशाला की शुरुआत कर एक नया रोल माडल बनाना चाहते हैं.

ग्रामीण प्रतिभाओं की होगी तलाश
कार्यशाला का संचालन करते हुए संजय झा ने कहा कि झारखंड के 24 जिलों में डिजिटल पंचायत पाठशाला ग्रामीण प्रतिभाओं की तलाश के साथ-साथ उसे मजबूती देने का नया अभियान है। इस दौरान झारखंड सरकार से अपील की गई कि डिजिटल पंचायत पाठशाला की अवधारणा को पंचायत स्तर पर स्थापित किया जाए ताकि नौजवानों को रोजगार का अवसर भी मिले। मौके पर अमन कुमार, गौरव कुमार, नेशनल पीपुल्स पार्टी के उपाध्यक्ष पंकज सिंह, महासचिव अमर महतो सहित दर्जनों लोगों ने अपने विचार व्यक्त किए।

 

 

 

Most Popular