झारखंड में इन लोगों की कटेगी बिजली, जानिए पूरी डिटेल

बिजली वितरण निगम राजस्व वसूली को लेकर आपूर्ति प्रमंडल रांची में सघन अभियान चलायेगा. बुधवार से राजधानी से लेकर सिमडेगा तक अभियान चलेगा. सभी 10 प्रमंडलों के अंदर कार्यपालक अभियंता की निगरानी में पांच सदस्यीय टीम को इस कार्य में लगाया गया है.

प्रत्येक टीम में कार्यपालक अभियंता, सहायक अभियंता, कनीय अभियंता एवं कार्यकारी एजेंसी के प्रतिनिधि होंगे. इस बार विभाग ने बड़े बकायेदारों को लक्ष्य करके 125 टीमों का गठन किया है. सभी डिविजन में 10 हजार से ऊपर के बकायेदारों का बिजली कनेक्शन काटने का निर्देश दिया गया है. जिन उपभोक्ताओं को भुगतान संबंधी आर्थिक परेशानी है, उन्हें तीन किस्तों में भुगतान की सुविधा दी गयी है. जो उपभोक्ता बिल नहीं मिलने की शिकायत करेंगे, उनसे मौके पर बिल जमा कराने का आग्रह किया जायेगा.

गुमला पर विशेष नजर

रांची आपूर्ति अंचल के छह डिविजनों के साथ ही खूंटी, गुमला, लोहरदगा, सिमडेगा में भी व्यापक रूप से अभियान चलाया जायेगा. गुमला अंचल के राजस्व योगदान को देखते हुए महाप्रबंधक ने नाराजगी जतायी है. यहां प्रतिदिन 3000 हजार उपभोक्ताओं का कनेक्शन काटने का लक्ष्य रखा गया है.

बिजली चोरी के खिलाफ 1122 लोगों पर प्राथमिकी

बिजली चोरी के खिलाफ झारखंड ऊर्जा विकास निगम ने राज्य भर में सघन छापेमारी अभियान चलाया. इस क्रम में 4163 परिसरों की जांच की गयी. 1122 परिसरों में बिजली चोरी का मामला पकड़ा गया. इनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कर 1.83 करोड़ का जुर्माना लगाया गया.

रांची में 105 पर प्राथमिकी दर्ज कर 18.50 लाख का जुर्माना किया गया. इसी तरह गुमाला में 33 पर 2.90 लाख, जमशेदपुर में 65 पर 12.70 लाख, चाईबासा में 35 पर 5.10 लाख, धनबाद में 52 पर 6.80 लाख, चास में 50 पर 7.36 लाख, डालटेनगंज में 199 पर 20.04 लाख, गढ़वा में 78 पर 10.30 लाख, दुमका में 89 पर 13.44 लाख, साहिबगंज में 47 पर 5.73 लाख, गिरिडीह में 65 पर 13.81 लाख, देवघर में 138 पर 38.06 लाख, हजारीबाग में 90 पर 18.61 लाख, रामगढ़ में 51 पर 5.79 लाख व कोडरमा में 25 लोगों पर 3.95 लाख का जुर्माना लगाया गया.