झारखंड के इस ज़िला से मास्टरमाइंड देश में चला रहा चाइल्ड पॉर्नोग्राफी नेटवर्क

साइबर अपराध में बदनाम होने के बाद गिरिडीह का नाम चाइल्ड पोर्नग्राफी में भा आ गया है। चाइल्ड पोर्नग्राफी में गिरिडीह के एक युवक की संलिप्तता की बात सामने आई है। इसे लेकर गिरिडीह के साइबर थाना में एफआईआर दर्ज किया गया है जबकि आरोपी को गिरफ्तार करने के लिए गिरिडीह पुलिस की एक टीम देर शाम को रांची भी पहुंच चुकी है। कहा जा रहा है कि इस मामले में गिरिडीह की टीम को सफलता भी मिली है। हालांकि अभी इस मामले पर कोई भी जानकारी शेयर करने से गिरिडीह पुलिस बच रही है।

व्हाट्सएप ग्रुप पर चाइल्ड पोर्न की भरमार

बताया जाता है यह मामला एक व्हाट्सएप ग्रुप के कारण सामने आया है। मिली जानकारी के अनुसार गिरिडीह का एक व्यक्ति इस ग्रुप का एडमिन है और इस ग्रुप में झारखण्ड तथा केरल के कई बच्चों का पोर्न वीडियो भरा हुआ है। इस ग्रुप में झारखण्ड, केरल के अलावा कई राज्यों के लोग मेम्बर हैं।

केरल पुलिस की सक्रियता के बाद फरार हुए युवक

बताया जाता है कि केरल पुलिस को इस ग्रुप के संदर्भ में अहम जानकारी मिली। इसके बाद केरल पुलिस हरकत में आयी। चूंकि गिरिडीह के देवरी क्षेत्र के एक गांव का रहनेवाला एडमिन केरल में रहता था ऐसे में केरल पुलिस ने उक्त व्यक्ति की तलाश शुरू की लेकिन वह केरल से भाग निकला। इसके बाद केरल के साइबर एडीजी ने झारखंड के साईबर एडीजी से संपर्क किया। मामले की गंभीरता को देखते हुए गिरिडीह साईबर थाना में कांड अंकित किया गया। साइबर थाना प्रभारी सुरेश प्रसाद मंडल ने स्वयं अपने बयान पर यह मामला दर्ज किया है।