जानिए इस शख्स ने कैसे देश की पहली एयर टैक्सी सेवा शुरू करने में बड़ी भूमिका निभाई और क्या होता है ऐयर टैक्सी

हरियाणा के एक शख्स ने देश की पहली एयर टैक्सी सेवा शुरू करने में बड़ी भूमिका निभाई है. बेरी के गांव बिसाहन के रहने वाले कैप्टन वरुण सुहाग के इस टैक्सी सेवा का सीएम मनोहर लाल खट्टर ने शुरुआत की है. हिसार से देहरादून, चंडीगढ़ और धर्मशाला तक इससे कम समय में कम किराए में जा सकेंगे.

फिरोजपुर के मिलिट्री अस्पताल में 23 जनवरी 1984 को जन्म वरुण ने दिल्ली के वसंत वैली से 12वीं तक पढ़ाई की. इसके बाद गुरुग्राम में मेकैनिकल इंजीनिरिंग की पढ़ाई की. इसके बाद अमेरिका के फ्लोरिडा शहर में पायलटकी ट्रेनिंग ली. साल 2007 से 2019 तक पायलट की नौकरी की.

फ्लोरिडा में उन्होंने एयर टैक्सी की सुविधा का लाभ मिला. भारत में उन्हें इसकी कमी महसूस होती थी. ऐसे में उन्होंने पूनम गौड़ के साथ स्टार्टअप प्लान करा. साल 2005 से उन्होंने कोशिश शुरू की. इसके बाद रीजनल केनिक्टिविटी स्कीम के तरत एअर टैक्सी चलाने की जिम्मेदारी एविएशन मंत्राल ने दे दी.

10 करोड़ रु. में एअर टैक्सी की शुरुआत हुई है. वह भारती फ्लाइट को लग्जरी फील कराना चाहते हैं. इसके लिए एअरपोर्ट पर 10 मिनट पहले आना होगा. एक टाइम में 3 पेसेंजर आ सकेंगे. सेवा 26 अलग-अलग रुट पर है.