जादू-टोना का आरोप लगा सास-ससुर और बहू की कुल्हाड़ी से काटकर की हत्या

गुमला जिले के सदर थाना क्षेत्र के लूटो गांव में शनिवार की रात एक ही परिवार के तीन सदस्यों की हत्‍या कर दी गई। बंधन उरांव (60) ,उसकी पत्नी सोमवारी देवी (55) व बहू बासमुनी देवी (35) की हत्या डायन बिसाही का आरोप लगाते हुए उसके भतीजे विपला उरांव ने लोहे के पाइप से मारकर कर दी। बासमुनी देवी के दोनों बच्चे कमरे में सोए थे और बाहर से दरवाजा बंद था। इस कारण दोनों बच्चों की जान बच गई। हत्या के आरोप में पुलिस ने विपला उरांव को गिरफ्तार कर लिया है और हत्या में इस्तेमाल लोहे का पाइप भी पुलिस ने बरामद कर लिया है।

विपला उरांव ने अपने खेत में लौकी की फसल लगाई थी। उस फसल को चूहा ने बर्बाद कर दिया। लेकिन उस फसल को बर्बाद करने व जादू टोना कर उसे पागल बनाने का आरोप अपनी चाची सोमवारी देवी पर लगाते हुए विपल उरांव ने पहले शनिवार की शाम चाची व चाचा से झगड़ा किया, फिर उसकी हत्या रात में कर दी। पत्नी को बचाने के लिए जब बंधन उरांव ने प्रयास किया तो उसकी भी हत्या कर दी गई। शोरगुल की आवाज सुनकर बहू बासमुनी देवी दूसरे कमरे से दौड़ कर आई, तो हत्यारे ने उसे भी नहीं छोड़ा और उसे भी लोहे के पाइप से मारकर आंगन में ही मौत के घाट उतार दिया।

खाना खाने के दौरान वारदात

बंधन परिवार के साथ शनिवार की शाम को खेत से काम करने के बाद घर लौटा था। इसके बाद बासमुनी अपने सास ससुर को खाना परोस रही थी। इसी दौरान आरोपी बिपता उरांव उनके घर में घुस गया और कुल्हाड़ी से पहले बंधन उरांव और सोमारी देवी को काट डाला। शोर सुन जैसे ही बासमुनी किचन से बाहर आई, आरोपी ने उस पर भी हमला कर दिया और वहां से भाग निकला।

पुलिस टीम पहुंची घटनास्थल पर

इधर, घटना की सूचना के बाद सदर एसडीपीओ मनीष चंद लाल व थानेदार मनोज कुमार भी पुलिस टीम के साथ घटनास्थल पहुंचे। सदर एसडीपीओ ने बताया कि हत्या के पीछे मृतक बंधन के भतीजे का हाथ है। उसने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण भी कर दिया है।