जरा सी चूक और आ जाएंगे लपेटे में। हर टीटीई को दे दिया गया है टारगेट, जानिए विस्तार से

अगर आप भी रेल यात्रा करते हैं तो यह खबर आपके लिए ही है। अब त्योहारी सीजन में दानापुर रेल मंडल के अंतर्गत सभी टीटीई को जुर्माना वसूलने का टारगेट दे दिया गया। कोरोना काल के बाद रेलवे लगातार अपने राजस्व बढ़ाने की कोशिश कर रहा है। इसके लिए कई तरह के नियमों में बदलाव किया जा रहा है। चेकिंग का बड़ा अभियान चलाकर जुर्माना वसूलने की योजना बनाई गई है।

केवल टिकट ले लेने से नहीं बच पाएंगे जुर्माने से।

दानापुर रेल मंडल के अंतर्गत सभी छोटे बड़े स्टेशनों हर टीटीई को एक टारगेट दे दिया गया है। ऐसे में केवल टिकट लेकर चलने से ही आप जुर्माना से नहीं बच पाएंगे, बल्कि आपके पास सही ट्रेन के लिए सही टिकट और इसके अलावा एक वैध फोटो पहचान पत्र भी होना बेहद जरूरी है। बगैर टिकट यात्रा करने वाले यात्रियों पर नकेल कसने के लिए सभी टीटीई को सख्त निर्देश दिए गए हैं।

प्रतिदिन 3000 यात्रियों से जुर्माने का रखा गया है टारगेट।

मंडल मुख्यालय की ओर से टिकट निरीक्षकों को प्रतिदिन कम से कम 3000 बेटिकट यात्रियों से जुर्माना वसूलने का निर्देश दिया गया है। इससे रेलवे को प्रतिदिन 12 से 15 लाख रुपये के अतिरिक्त राजस्व की प्राप्ति की उम्मीद है। आधिकारिक सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, दानापुर मंडल के दानापुर, पटना जंक्शन व राजेंद्र नगर के साथ ही किउल व झाझा में विशेष स्क्वायड की तैनाती टिकट जांच के लिए की गई है। दानापुर मंडल मुख्यालय की ओर से अपना स्क्वायड गठित किया गया है। टारगेट ना पूरा करने वाले टीटीइ पर कार्रवाई भी की जाएगी।

इन बातों का रखें विशेष ध्यान।

बता दें की कोविड-19 महामारी के बाद से देश में सिर्फ स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही है। इसीलिए उनके नियम कुछ अलग हैं। इन ट्रेनों के जनरल बोगी में भी आप बिना आरक्षित टिकट के यात्रा नहीं कर सकते हैं। साथ ही अगर आपके पास वेटिंग टिकट है तो भी आप ट्रेन में यात्रा नहीं कर सकते हैं सिर्फ कंफर्म टिकट और आरएसी वालों को ही इसकी इजाजत है। जनरल टिकट से आप मेमू और पैसेंजर ट्रेनों में भी यात्रा कर सकते हैं।

इसके अलावा कई सारे पैसेंजर और मेमो ट्रेन में भी एक्सप्रेस ट्रेन का किराया वसूल किया जा रहा है। इसके लिए काउंटर से संबंधित ट्रेन के बारे में अवश्य जानकारी प्राप्त कर लें।