Homeबिहारकम किराया में राजधानी की सड़कों पर सफर कर पाएंगे, इस हफ्ते...

कम किराया में राजधानी की सड़कों पर सफर कर पाएंगे, इस हफ्ते पटना को मिलेंगे कई सीएनजी बसें

राजधानी पटना के साथ ही देश के कई राज्यों में लोगों को प्रदूषण की समस्या का सामना करना पड़ा है। हालांकि राजधानी पटना में अब सीएनजी बस को चलाने की योजना पर काम किया जा रहा है जिससे कि एक तो प्रदूषण से लोगों को राहत मिले साथ ही यात्रा भी सुगम हो और किराया भी ज्यादा न देना पड़े। बता दें कि राजधानी पटना में 50 सीएनजी सिटी बसों का परिचालन शुरू किया गया है। बता दें कि इन बसों का किराया येलो बस के किराये इतना ही होगा। डीटीओ ने बताया कि डीजल की तुलना में सीएनजी काफी सस्ता है ऐसी स्थिति में सीएनजी बसों में तब्दली के बाद बसों के किराये में बढ़ोतरी का कोई प्रश्न ही नहीं है। साथ ही उन्होंन यह भी कहा है कि सीएनजी बसों का किराया पीली प्राइवेट बसों की तुलना में काफी सुविधाजनक होगी।

आपको बता दें कि डीटीओ द्वारा स्वीकृत हरे व सफेद रंग में पेंट भी कर दिया गया है। बता दें कि इन बसों की किमत 25 से 30 लाख के मध्य है जबकि सरकार की तरफ से इन पर 7.5 लाख की सब्सिडी मिल रही है। आपको बता दें कि बसों के परिचालन को लेकर पहले फेज में 50 बस मालिकों को इसकी स्वीकृति दी गई है। साथ ही यह भी कहा गया है कि कुछ दिनों में इन बस मालिकों को यह राशि दे दी गई है। साथ ही यह भी कहा गया है कि एक सप्ताह के अंदर बसों का परिचालन किया जा रहा है। बता दें कि डीजल बसों से एक तो शहर के अंदर प्रदूषण की मात्रा में बढ़ोतरी देखी जाती है तो वहीं दूसरी तरफ से सीएनजी बसों से सफर करने से आपके पैसे भी बचेंगे। ऐसे में प्रदेश की सरकार एक तरफ पर्यावरण का तो ध्यान रख ही रही है साथ ही साथ कम पैसे की गाड़ियां भी चला रही है।

इन सब के अलावा बीएसआरटीसी 95 नयी सीएनजी बस खरीदने का प्रयास कर रहा है। ताकि राजधानी में चल रही और भी डीजल बसों को पूरी तरह से बंद किया जा सके। बिहार सरकार पहले ही पीली बसों को हटाने पर जोर दे रही है। इसके तहत यह बात कही गई है कि अब राजधानी में पीली बसें नहीं चलाई जाएगी अगर कोई भी इसे चलाना है तो अब उसे सीएनजी में बदलना होगा साथ ही बिहार सरकार इसको लेकर अनुदान राशि भी मुहैया करा रही है। बता दें कि बिहार सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है। जिसमें उन्होंने यह कहा कि शहर के अंदर चल रहे पीली बसों को धीरे धीरे कर के शहर से बाहर किया जाएगा. बता दें कि प्रदेश में इन दिनों 365 पीली बसें हैं जिसे शहर से बाहर करना है। यह भी बताया गया है कि इन बसों को 50-50 के खेप में शहर से बाहर किया जाएगा और इसको 8 चरण में दूसरे शहर में भेजा जाएगा।

Most Popular