औरंगाबाद से दरभंगा फोरलेन 2024 तक बनकर होगा तैयार, भूमि अधिग्रहण का काम हो गया पूरा

दक्षिण बिहार से उत्तर बिहार की कनेक्टिविटी को बेहतर करने के लिए जिंदाबाद से दरभंगा के बीच करीब 205 किलोमीटर लंबाई में फोरलेन नेशनल हाईवे का निर्माण होना है। जानकारी के अनुसार 2024 में इसका निर्माण पूरा होने की संभावना है। फिलहाल इस सड़क का जमीन अधिग्रहण पूरा हो चुका है। जल्द ही टेंडर के माध्यम से निर्माण एजेंसी का चयन किया जाएगा।

काफी कम वक्त में पूरा हुआ जमीन अधिग्रहण का कार्य।

बता दें कि इस नेशनल हाईवे परियोजना के लिए जमीन अधिग्रहण करीब नहीं पूरा हो चुका है। राज्य में नेशनल हाईवे निर्माण में जमीन अधिग्रहण इतने कम समय में पूरा होना एक रिकॉर्ड है। के बन जाने से दास के किसी भी कोने से पटना 5 घंटे में ही पहुंचा जा सकेगा। औरंगाबाद के मदनपुर से शुरू होकर यह सड़क गया एयरपोर्ट के बगल से होते हुए जीटी रोड को भी कनेक्टिविटी देगी।

7200 करोड़ की लागत से बनेगा यह हाईवे।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार योजना के तहत बनने वाली सड़क पर कुल 7200 करोड़ रुपए की लागत आने का अनुमान है। औरंगाबाद जिले से गया जहानाबाद सीमा से गुजरते हुए या सड़क कच्ची दरगाह और बिदुपुर के बीच बन रहे सिक्स लेन पुल से चाकसिकंदर महुआ के पूरब होते हुए सड़क ताजपुर से कल्याणपुर समस्तीपुर तक जाएगी। वहां से दरभंगा एयरपोर्ट के समीप ईस्ट वेस्ट कॉरिडोर तक पहुंचेगी।

इस सड़क परियोजना को 80 फ़ीसदी तक ग्रीन फील्ड रखा गया है यानी कि इसमें 80 प्रतिशत नई सड़क होगी। भविष्य में इस सड़क को दरभंगा से जयनगर तक भी विस्तारित करने का विचार किया जा रहा है।