औरंगाबाद से दरभंगा जाने वाला एक्सप्रेस-वे अब पटना ज़िला से होकर जायेगी, जाने विस्तार से

भारत माला प्रोजेक्ट के तहत बनने वाले एनएच-119डी का निर्माण कार्य पटना जिले में नवंबर से होगा। औरंगाबाद के आमस से दरभंगा जाने वाला यह एक्सप्रेस-वे पटना जिले के दो प्रखंडाें से गुजरेगा। इनमें फतुहा और धनरूआ प्रखंड शामिल हैं। इन दोनों प्रंखडाें के 12 मौजा की 205.26 एकड़ जमीन का अधिग्रहण होगा।

जिला भू-अर्जन पदाधिकारी प्रमोद कुमार ने कहा कि किसानों को नोटिस जारी किया जा रहा है। इन किसानों को आवेदन मिलने पर मुआवजे का भुगतान शुरू किया जाएगा। इसके लिए 123.24 करोड़ की राशि मिली है। किसानों काे खाते के माध्यम से भुगतान हाेने के बाद एनएचएआई को जमीन हस्तांतरित हाेगी।

भारतमाला परियोजना एक राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना है। इसके तहत नए राजमार्ग के अलावा उन परियोजनाओं को पूरा किया जाएगा जो अबतक अधूरी हैं। नेशनल कॉरिडोर्स को ज्यादा बेहतर बनाना है। इसके अलावा पिछड़े इलाकों, धार्मिक और पर्यटक स्थल को जोड़ने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग बनाना है।

रोहतास-कैमूर के 28 मौजों में चकबंदी पूरी

मंत्री ने बताया कि रोहतास और कैमूर जिले के 28 मौजों में चकबंदी पूरी हो गई है। डिनोटिफिकेशन के साथ ही इन मौजों का खतियान और नक्शा संबंधित अंचल को सौंप दिया जाएगा और आगे से उन अंचलों का काम चकबंदी खतियान और नक्शे के आधार पर ही होगा। इससे पहले उन सभी 28 मौजों की जहां चकबंदी पूरा हो गया है कि गहन जांच रोहतास जिला के चकबंदी उपनिदेशक से कराई गई।

मंत्री ने गुरुवार को ही रोहतास जिले के 22 मौजों में चकबंदी को समाप्त घोषित किया है। हालांकि अन्य 6 मौजों में सुनवाई का काम पूरा नहीं होने और इनमें से दो मौजों में चक के मुताबिक दखल कब्जा नहीं होने की वजह से डिनोटिफाई नहीं किया जा सका है।