HomeMotivationalऑटोरिक्शा चालक अचानक बना 25 करोड़ रुपये का मालिक, जानें इसके पीछे...

ऑटोरिक्शा चालक अचानक बना 25 करोड़ रुपये का मालिक, जानें इसके पीछे का राज..

अगर हम बात करें किसी ऑटोरिक्शा चालक करोड़पति है तो शायद यह बात मानना काफी मुश्किल होगा. लेकिन कहते हैं न कि ऊपर वाला देता है तो छप्परफाड़ कर देता है. ऐसे ही हुआ है एक ऑटो चालक के साथ, जिसने इस साल की ओणम बम्पर लॉटरी जीती है. बता दें, केरल राज्य लॉटरी विभाग ने रविवार को दोपहर 2 बजे ओणम बम्पर 2022 के परिणामों की घोषणा की. ओणम बंपर 2022 का पहला पुरस्कार 25 करोड़ रुपये था. पहला पुरस्कार तिरुवनंतपुरम के श्रीवरहम के एक ऑटो चालक को मिला है.

टैक्स कटौती के बाद 15 करोड़ 75 लाख रुपये मिलेंगे
अनूप एक ऑटोरिक्शा चालक है और पहले एक होटल में शेफ के रूप में काम करता था. अनूप ने शनिवार रात भगवती एजेंसी से लाटरी टिकट खरीदा था. केरल लॉटरी के अनुसार, अनूप का टिकट नंबर टीजे 750605 था, जिससे उन्हें ₹25 करोड़ मिले. टैक्स कटौती के बाद उन्हें 15 करोड़ 75 लाख रुपये मिलेंगे.

एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, अनूप इस पुरस्कार पाने के बाद उत्साह से भरा हुआ है. पहले वह एक होटल में शेफ के तौर पर काम कर रहा था और शेफ के तौर पर काम करने के लिए मलेशिया जाने की योजना बना रहा था. उसने लोन के लिए बैंक से संपर्क किया और उसका लोन मंजूर भी हो गया. केरल के वित्त मंत्री के एन बालगोपाल ने रविवार दोपहर परिवहन मंत्री एंटनी राजू और वट्टियूरकावु विधायक वी के प्रशांत की उपस्थिति में लकी ड्रा निकाला.

इस साल का ओणम बंपर प्राइस केरल लॉटरी के इतिहास में सबसे ज्यादा कीमत है, पहले पुरस्कार के लिए 25 करोड़ और दूसरे के लिए 5 करोड़ रुपये और तीसरे पुरस्कार के रूप में 10 व्यक्तियों के लिए 1 करोड़ रुपये थे.

बिक गए थे सभी टिकट
इस साल 67 लाख ओणम बंपर टिकट छपे और लगभग सभी टिकट बिक गए. टिकट की कीमत 500 रुपये थी. लॉटरी केरल सरकार के लिए आय के मुख्य स्रोतों में से एक है. टिकट बेचने वाले लॉटरी एजेंट थंकराज को भी कमीशन मिलेगा.

ओणम 30 अगस्त को अथम के साथ शुरू हुआ और थिरुवोनम के साथ संपन्न हुआ. ओणम केरल पर शासन करने वाले राजा महाबली के शासन में सुशासन की याद में मनाया जाता है. ओणम एक फसल उत्सव है.

 

Most Popular