आरटीपीएस के सर्वर में आई खराबी लाखों लोगों के प्रमाणपत्र फंसे

सरकारी सेवाओं का लाभ लेने के लिए हमें जो आवासीय, जाति और आय प्रमाणपत्रों की जरूरत होती थी, वे आरटीपीएस के माध्यम से बहुत आसानी से ऑनलाइन प्राप्त हो जाते थे। लेकिन पिछले दिनों आए इसके सरवन में खराबी की वजह से लाखों लोगों का प्रमाण पत्र अटका हुआ है। बता दें कि इस वजह से लोक सेवाओं के अधिकार (आरटीपीएस) के तहत दी जाने वाली सेवाओं के 21 लाख से अधिक मामले लंबित हो गए हैं।

इनमें से लगभग 90% आवेदन आय जाति व निवास प्रमाण पत्र के हैं। इन प्रमाण पत्रों की मुख्य रूप से जरूररत, शिक्षण संस्थानों में नामांकन और नौकरी के लिए होती है। यानी कि यह मामला मुख्य रूप से लोगों को शिक्षा और रोजगार से जुड़ा हुआ है। कई छात्रों के उच्च शिक्षण संस्थानों में एडमिशन अटक गया है तो कई लोगों को नौकरी में आरक्षण का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

जानकारी के अनुसार राज्य सरकार के तीन विभाग स्वीकृत को दूर करने में लगे हुए हैं लेकिन फिलहाल समस्या का समाधान कब होगा इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी के अपर मिशन निदेशक डॉ प्रतिमा एस बताया कि घर में आई तकनीकी खराबी के कारण प्रमाण पत्र जारी करने में दिक्कत हो रही है इसे ठीक करने के लिए तकनीकी टीम जुटी हुई है पदाधिकारियों से कहा गया है कि जहां भी दिक्कत हो रही है वे हमें बताएं। वन टू वन करके उस समस्या को दूर किया जा रहा है।