Homeबिहारअब जनरल टिकट से भी बिहार-झारखण्ड के इन ट्रेनों में कर सकते...

अब जनरल टिकट से भी बिहार-झारखण्ड के इन ट्रेनों में कर सकते हैं सफर, देख लीजिये लिस्ट

कोविड काल में लगभग डेढ़ साल से अधिक वक्‍त के बाद रेल यात्रियों को फिर से जनरल टिकट पर लंबी दूरी की एक्‍सप्रेस ट्रेनों में यात्रा की इजाजत मिलने लगी है। हालांकि, अभी यह सुविधा सीमित ट्रेनों में ही शुरू की जा रही है। यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रख पूर्व-मध्य रेल क्षेत्र में चलने वाली नौ जोड़ी ट्रेनों में साधारण श्रेणी (2एस) की कुछ आरक्षित बोगियों को 20 दिसंबर से आरक्षित के बदले अनारक्षित कोच के रूप में चलाने का निर्णय लिया गया है। स्‍पेशल ट्रेनों की बजाय रेगुलर नंबर के साथ ट्रेनों का परिचालन शुरू करने के बाद रेलवे की ओर से यह यात्रियों को दूसरी बड़ी राहत है। हालांकि, अलग-अलग कई रेल मंडलों में ऐसी सुविधा पहले ही शुरू कर दिए जाने के कारण यात्रियों में भ्रम की स्थिति है।

इन ट्रेनों में मिलेगी सुविधा

  • गाड़ी संख्या 13401/02 भागलपुर-दानापुर-भागलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस के 15 कोचों में से पांच कोच डी-11 से डी-15 तक को अनारक्षित कर दिया गया है।
  • गाड़ी संख्या 13419/20 भागलपुर-मुजफ्फरपुर-भागलपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस के 11 कोच में पांच कोच डी/07 से डी/11 तक अनारक्षित श्रेणी के किए गए हैं।
  • गाड़ी संख्या 15283/84 मनिहारी-जयनगर-मनिहारी जानकी एक्सप्रेस के छह कोच में चार डी/03 से डी/06 को अनारक्षित किए गए हैं।
  • गाड़ी संख्या 15713/14 कटिहार-पटना-कटिहार इंटरसिटी के 12 कोच में छह कोच डी/07 से डी/12 तक अनारक्षित किए गए हैं।
  • गाड़ी संख्या 14223/24 राजगीर-वाराणसी-राजगीर बुद्ध पूर्णिमा एक्सप्रेस के सात कोच में चार डी/04 से डी/07 तक अनारक्षित किए गए हैं।
  • गाड़ी संख्या 18631/32 रांची-चोपन-रांची एक्सप्रेस के10 कोच में पांच कोच डी/6 से डी/10 तक अनारक्षित किए गए हैं।
  • गाड़ी संख्या 18635/36 रांची-सासाराम-रांची एक्सप्रेस के 10 कोच में पांच कोच डी/06 से डी/10 तक अनारक्षित किए गए हैं।
  • गाड़ी संख्या 18625/26 पूर्णिया कोर्ट-हटिया-पूर्णिया कोर्ट एक्सप्रेस के 11 कोच में छह कोच डी/06 से डी/11 तक अनारक्षित होंगे।

सीमित ट्रेनों में छूट देने से यात्रियों में असमंजस

द्वितीय (सामान्‍य) श्रेणी के कोच में यात्रा के लिए अलग-अलग ट्रेनों में अलग नियम लागू किए जाने से यात्रियों में असमंजस की स्‍थ‍ित‍ि है। रेलवे ने एक ही ट्रेन में एक ही तरह की दिखने वाली कुछ बोगियों को अनारक्षित कर दिया है, जबकि कुछ बोगियों में यात्रा के लिए रिजर्वेशन कराना अभी भी जरूरी है। इससे कम पढ़े-लिखे यात्रियों को भारी मुश्किल हो रही है। दूसरी तरफ, जानकारी के अभाव में लोग वैसे कोच में भी चढ़ जा रहे हैं, जो आरक्षित श्रेणी में रखे गए हैं। इसके चलते आरक्षण कराकर यात्रा करने पहुंचे लोगों को तमाम दिक्‍कतों का सामना करना पड़ रहा है।

Most Popular