अब गुवाहाटी एयरपोर्ट भी हुआ अडानी का, सौंप दी गई एयरपोर्ट प्रबंधन की कमान

गुवाहाटी में लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को संचालन, प्रबंधन और विकास की जिम्मेदारियों के लिए शुक्रवार को अदानी समूह को सौंप दिया गया। एक प्रेस बयान में कहा गया कि पूर्वोत्तर के सबसे प्रमुख हवाई अड्डे के विकास और आधुनिकीकरण की प्रक्रिया की शुरुआत करते हुए, हवाई अड्डे की प्रतीकात्मक कुंजी भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण (एएआई) के हवाई अड्डे के निदेशक रमेश कुमार द्वारा एयरपोर्ट के नए संचालक के मुख्य हवाईअड्डा अधिकारी उत्पल बरुआ को सौंप दिया गया।

2018 में, भारत सरकार ने गुवाहाटी हवाई अड्डे को छह हवाई अड्डों के समूह में शामिल किया इनमे अहमदाबाद, लखनऊ, मैंगलोर, जयपुर और तिरुवनंतपुरम एयरपोर्ट को 50 वर्षों की अवधि के लिए संचालन, प्रबंधन और विकास (ओएमडी) के निजीकरण के लिए निर्धारित किया गया। अदानी एंटरप्राइज लिमिटेड सभी छह हवाई अड्डों के लिए सफल बोलीदाता के रूप में उभरा।

एएआई और अदानी एंटरप्राइज लिमिटेड के बीच इस साल 19 जनवरी को नई दिल्ली में रियायत समझौते पर हस्ताक्षर किए गए थे। बयान में कहा गया है कि शुक्रवार से गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बोरदोलोई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के संचालन, प्रबंधन और विकास की जिम्मेदारी नए हवाईअड्डा संचालक अदाणी गुवाहाटी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डा लिमिटेड (एजीआईएएल) द्वारा संभाली जाएगी।

ताल-खोल और बिहू की सुरीली पारंपरिक धुन के बीच, अदानी समूह के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में, हवाई अड्डे के कई कर्मचारियों और अधिकारियों ने अपने परिवारों के साथ कार्यभार ग्रहण किया। शुरुआती तीन वर्षों में, नए हवाईअड्डा संचालक को एएआई के कर्मचारियों द्वारा समर्थित किया जाएगा। इस अवसर पर बोलते हुए, कुमार ने नए ऑपरेटर को शुभकामनाएं दीं और शुरुआती चरण में अपना समर्थन देने का आश्वासन दिया।

बरुआ ने अपने संबोधन में एलजीबीआई हवाईअड्डे में उल्लेखनीय बदलाव लाने के लिए एएआई को धन्यवाद दिया। बयान में कहा गया है कि उन्होंने हवाईअड्डे पर प्रत्येक व्यक्ति और आम जनता से हवाईअड्डे को विश्व स्तरीय सुविधा बनाने के लिए पूरे दिल से समर्थन की अपील की, जो देश को गौरवान्वित करेगी।