अच्छी खबर! लोकनायक गंगा पथ के निर्माण में अब कोई बाधा नहीं, हुडको देगा इतना पैसा

राजधानी पटना के यातायात व्यवस्था को सुचारू और सुव्यवस्थित करने के लिए बिहार सरकार लगातार प्रयास कर रही है। इस क्रम में एक और काम होने जा रहा है। लोकनायक गंगा पथ के लिए सरकार तेजी से काम कर रही है। इसके लिए हाउसिंग एंड अर्बन डेवलपमेंट कॉरपोरेशन ( हुडको ने) ₹2000 करोड़ लोन मुहैया कराने की स्वीकृति दे दी है।

इस फाेरलेन एलिवेटेड सह सतही सड़क परियोजना की कुल लागत 3390 करोड़ है, जिसमें से 1390 करोड़ रुपए राज्य सरकार अपने संसाधन से खर्च

करेगी। बाकी 2000 करोड़ रुपए हुडको हर साल, यानी अगले तीन वर्षों तक यह लोन के रूप में मुहैया कराएगा

पथ निर्माण मंत्री नितिन नवीन ने बताया कि वैसे तो वर्ष 2023 के जुलाई तक पूरी परियोजना बनने के आसार हैं, लेकिन दीघा से एएन इंस्टीट्यूट तक अगले वर्ष मार्च तक चालू करने का लक्ष्य तय किया गया है। इसके शुरू हो जाने से कंकड़बाग समेत पूर्वी पटना की तरफ से उत्तर बिहार की ओर वाले जो वाहन गांधी सेतु के लिए कंकड़बाग से होते हुए जाते हैं, वे सीधे जेपी सेतु के तरफ से ही निकल जाएंगे। इससे शहर में वाहनों का दबाव कम होगा

दीघा से एएनसिन्हा इंस्टीट्यूट 5.9 किलोमीटर और    नुरुद्दीनघाट से दीदारगंज चेकपोस्ट तक 2.9 किलोमीटर जमीनी सड़क बनेगी। तथा एएन सिन्हा इंस्टीट्यूट से मालसलामी के आगे नुरुद्दीनघाट तक 11.1 किलोमीटर और दीदारगंज चेकपोस्ट से गोपघाट तक 600 मीटर एलिवेटेड रोड बनेगी।

इसके अलावा दीघा से एएनसिन्हा इंस्टीट्यूट और नुरुद्दीनघाट से गोप घाट तक फुटपाथ यानी गंगा नदी की तरफ 5 मीटर चौड़ा वॉकिंग ट्रैक, 8 बस पड़ाव और 8 यात्री शेड, 7 एम्यूजमेंट पार्क के साथ दीदारगंज में भारी वाहन बस अड्डा भी बनेगा।