अच्छी खबर : बिहार के इन तीन जिलों के आयुर्वेदिक कॉलेजों में फिर से शुरू होगी पढ़ाई

बिहार सरकार स्वास्थ्य व्यवस्था में सुधार करने का लगातार प्रयास कर रही है। इसी क्रम में अब दरभंगा, भागलपुर और बक्सर के आयुर्वेदिक कॉलेज में फिर से पढ़ाई शुरू की जाएगी। इसके साथ ही पटना और गोपालगंज में 50-50 बेड की क्षमता के आयुष अस्पताल भी स्थापित किए जाएंगे। स्वास्थ्य विभाग आयुष पद्धति को बढ़ावा देने के लिए एक साथ कई योजनाओं पर काम कर रहा है।

इन जगहों पर बनेंगे नए आयुर्वेदिक कॉलेज।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार पटना सिटी स्थित नवाज मंजिल में भी आयुष अस्पताल के निर्माण की योजना मंजूर की है। इस भवन को अगले डेढ़ वर्ष में बना लेने का लक्ष्य है। बनने के बाद इस अस्पताल में आयुर्वेद, होमियोपैथी के साथ ही यूनानी और योगा पद्धति से इलाज की सुविधा दी जाएगी।

इसके अलावा गोपालगंज में एक नए आयुष अस्पताल का निर्माण किया जाएगा।

यहां पर बनेंगे नए भवन।

बेगूसराय और दरभंगा के राजकीय आयुर्वेद महाविद्यालयों में दो नए भवन बनेंगे। मुजफ्फरपुर स्थित राय बहादुर टुनकी साह शासकीय होमियोपैथी मेडिकल कालेज सह अस्पताल के परिसर में भी एक नया भवन बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि आयुर्वेद और यूनानी कालेजों में स्नातक सीटों की संख्या भी बढ़ाई गई है। केंद्र सरकार की पहल पर पूरे देश भर में आयुष चिकित्सा को बढ़ावा दिया जा रहा है।