अच्छी खबर: बिहार की स्मार्ट सिटी परियोजनाएं 5 सालों में कर ली जाएंगी पूरी। नगर निकायों कि बढ़ेगी आमदनी

केंद्र सरकार की महत्वकांक्षी योजना, स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत बिहार के 4 शहरों में स्मार्ट सिटी का काम चल रहा है। इन सभी योजनाओं को उनकी समय अवधि 5 साल में पूरा कर लिया जाएगा। उसके बाद नगर निकायों को और राज्य सरकारों को अपने स्तर से योजनाएं संचालित करने की छूट होगी। स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत जिन योजनाओं पर काम पूरा कर लिया गया है निकाय अब उसे आमदनी का स्रोत बनाएंगे और नई योजनाओं के लिए बजट तैयार करेंगे।

वर्तमान के नियमानुसार पांच वर्ष के समय पूरा होने के बाद केंद्र व राज्य सरकार की ओर से अतिरिक्त राशि स्मार्ट सिटी मद में नहीं दी जायेगी। गौरतलब हो कि बिहार के चार शहर पटना, भागलपुर, मुजफ्फरपुर व बिहार शरीफ में स्मार्ट सिटी की योजनाएं संचालित हो रही है।

अधिकांश शहरों में स्मार्ट सिटी में चयनित योजनाएं स्वीकृत हो चुकी हैं और निविदा के माध्यम से उसके निर्माण कार्य रहे सुचारू रूप से चल रहे हैं। आपको बता दें कि बिहार के चयनित शहरों में भागलपुर के पांच वर्ष का समय पूरा होने वाला है, जबकि पटना और मुजफ्फरपुर में करीब एक वर्ष का समय बाकी है। वहीं, बिहार शरीफ स्मार्ट सिटी का समय भी चार वर्ष पूरा हो चुका है।

स्मार्ट सिटी परियोजना के तहत राजधानी पटना में स्थित गांधी मैदान के पास, संत जेवियर स्कूल के बगल में 2 करोड़ 41 लाख 43 हजार की लागत से फुट ओवर ब्रिज बनेगा।