अच्छी खबर! जो भी छात्र अपने 10,12th रिजल्ट से असंतुष्ट है वो बदले हुए पैटर्न से दे सकते है परीक्षा, देखिये पूरी डिटेल्स

मैट्रिक-इंटर पूरक/संपूरक(विशेष) परीक्षा बदले हुए पैटर्न पर ली जायेगी. वैसे परीक्षार्थी, जो अपने रिजल्ट से संतुष्ट नहीं हैं, उनके लिए परीक्षा ली जायेगी. परीक्षा सितंबर के प्रथम सप्ताह तक लेने की तैयारी है. कोविड 19 के कारण मैट्रिक-इंटर का रिजल्ट विलंब से जारी हुआ है. ऐसे में, जो परीक्षार्थी विशेष परीक्षा में शामिल होंगे, उन्हें जल्द रिजल्ट दिया जा सके, इसके लिए परीक्षा पैटर्न में बदलाव की तैयारी की जा रही है. परीक्षा ओएमआर शीट पर भी ली जा सकती है, जिससे कि मूल्यांकन की प्रक्रिया जल्दी पूरी की जा सके.

क्यों किया जा रहा है बदलाव

दरअसल कोविड के कारण इस बार मैट्रिक और इंटर की परीक्षा का आयोजन नहीं किया गया है। पिछली कक्षाओं और प्रैक्टिकल के आधार पर स्टूडेंट्स को नंबर दिया गया है। इसके साथ ही देर से रिजल्ट जारी किया गया है। अब JAC पूरक परीक्षा का आयोजन और इसका रिजल्ट 15 सितंबर से पहले जारी कर देना चाह रहा है, ताकि स्टूडेंट्स इंटर और ग्रेजुएशन में समय पर एडमिशन ले सकें। उन्हें इसमें किसी प्रकार की परेशानी न हो

नंबर से असंतुष्ट स्टूडेंट्स भी हो सकते हैं शामिल

JAC के मुताबिक इस परीक्षा सभी प्रकार के स्टूडेंट्स शामिल हो सकते हैं। ऐसे जो फेल हुए हैं, उनके अलावा जो परीक्षा में शामिल नहीं हो सके, जिन्होंने रजिस्ट्रेशन तो कराया लेकिन किसी कारण से फॉर्म नहीं भर सके। साथ वे छात्र भी परीक्षा में शामिल हो सकते हैं जो पास तो हो गए हैं लेकिन अपने नंबरों से संतुष्ट नहीं हैं।

मैट्रिक-इंटर पूरक/संपूरक(विशेष) परीक्षा बदले हुए पैटर्न पर ली जायेगी. वैसे परीक्षार्थी, जो अपने रिजल्ट से संतुष्ट नहीं हैं, उनके लिए परीक्षा ली जायेगी. परीक्षा सितंबर के प्रथम सप्ताह तक लेने की तैयारी है. कोविड 19 के कारण मैट्रिक-इंटर का रिजल्ट विलंब से जारी हुआ है. ऐसे में, जो परीक्षार्थी विशेष परीक्षा में शामिल होंगे, उन्हें जल्द रिजल्ट दिया जा सके, इसके लिए परीक्षा पैटर्न में बदलाव की तैयारी की जा रही है. परीक्षा ओएमआर शीट पर भी ली जा सकती है, जिससे कि मूल्यांकन की प्रक्रिया जल्दी पूरी की जा सके.