Live News – बांग्लादेश से रिश्ते बढ़ाना चाहता है अमेरिका, भारत से मांगा पड़ोसी देश का ‘इनपुट’

नई दिल्ली. अमेरिका (America) के उप विदेश मंत्री स्टीफन बायगन ( Stephen Biegun) भारत की यात्रा पर हैं. बायगन 12 से 14 अक्टूबर तक भारत में हैं. इसके बाद बांग्लादेश (Bangladesh) की दो दिवसीय यात्रा पर जायेंगे. इस साल के अंत में प्रस्तावित अमेरिका-भारत ‘टू प्लस टू वार्ता’ से पहले भारत की बायगन की यात्रा, अमेरिका- भारत व्यापक वैश्विक सामरिक साझेदारी को आगे बढ़ाने पर केंद्रित होगी. इसके साथ उनकी यात्रा इस बात पर भी केन्द्रित रहेगी कि दोनों देश मिलकर हिंद-प्रशांत क्षेत्र और दुनिया में कैसे शांति, समृद्धि और सुरक्षा को आगे बढ़ा सकते हैं.’

अपनी यात्रा के दौरान बायगन ने भारत सरकार से कहा है कि वाशिंगटन उसके पड़ोसी देशों से परामर्श करेगा. बता दें बीते कम से कम एक दशक के भीतर बायगन पहले अमेरिकी वरिष्ठ अधिकारी होंगे जो बांग्लादेश के दौरे पर आ रहे हैं. घटनाक्रम से परिचित लोगों के अनुसार बायगन ने भारत के विदेश सचिव हर्ष श्रृंगला के साथ अपनी चर्चा में  QUAD सिक्योरिटी डायलॉग को मजबूत करने के तरीकों पर अधिक ध्यान दिया और भारत से उसके पड़ोसी मुल्कों का रुख जानना चाहा.

बांग्लादेश पर
उन्होंने व्यापार पर द्विपक्षीय सहयोग पर चर्चा की जिसमें सामान्य मानक बनाने, निवेश के लिए एक रूपरेखा और सप्लाई चेन बनाना शामिल है. भारतीय उपमहाद्वीप को कोविड -19 महामारी के खिलाफ लड़ने में मदद करने के लिए कदमों के अलावा  टीका बनने के बाद इसे वितरित करने की योजना है.हिन्दुस्तान टाइम्स की एक रिपोर्ट के अनुसार  बताया गया कि श्रृंगला ने अपने अमेरिकी समकक्ष को भी बांग्लादेश के बारे में जानकारी दी  और उन्हें वाशिंगटन के मुस्लिम-बहुल देश के साथ जुड़ने की आवश्यकता के बारे में बताया. जो मौजूदा सरकार में आर्थिक रूप से बढ़ रहा है.

अमेरिका के पूर्व विदेश मंत्री जॉन केरी और हिलेरी क्लिंटन ने ढाका  यात्रा करने के संकेत दिए थे लेकिन वह आए नहीं थे. भारत ने हसीना के नेतृत्व में अमेरिका को बांग्लादेश के साथ जुड़ने के लिए प्रोत्साहित किया है. भारत ने कहा है कि  बांग्लादेश में खालिदा जिया की सरकार में कट्टरपंथी दृष्टिकोण कम हो गए हैं.