Home देश Live News - केरल में कोरोना की स्थिति पर कल सर्वदलीय बैठक,...

Live News – केरल में कोरोना की स्थिति पर कल सर्वदलीय बैठक, राज्य में जारी रहेंगी सख्त पाबंदियां

तिरुवनंतपुरम. केरल (Kerala) में सोमवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) के 4,538 नए मामले सामने आए जिसके बाद राज्य में संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर 1 लाख 79 हजार 922 हो गया है. राज्य में बीते एक दिन में 20 लोगों की मौत हुई है जिसके बाद राज्य में कोविड-19 (Covid-19) से होने वाली मौतों का आंकड़ा बढ़कर 697 हो गया है. राज्य में पिछले 24 घंटे में 3,347 लोग ठीक हुए हैं राज्य में कोरोना से उबर चुके लोगों का प्रतिशत 12.59 हो गया है. राज्य में बढ़ते मामलों को देखते हुए मुख्यमंत्री पिनरई विजयन (CM Pinarayi Vijayan) ने कहा कि फिलहाल सरकार की पूर्ण लॉकडाउन (Lockdown) लगाने की कोई योजना नहीं है. मुख्यमंत्री ने कहा कि इसकी जगह सरकार कोविड-19 दिशानिर्देशों (Covid-19 Protocols) का सख्ती से पालन किए जाने के लिए कदम उठाएगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने राज्य में कोविड-19 की स्थिति पर चर्चा करने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाने का फैसला किया है. ये बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए की जाएगी. विजयन ने कहा कि राज्य में कोविड-19 के लगातार बढ़ते मामलों और इससे जुड़े सभी मुद्दों पर चर्चा करने के लिए मंगलवार को सर्वदलीय बैठक का आयोजन किया जा रहा है. सीएम पिनरई विजयन ने कहा कि कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन न होने की स्थिति में सख्त कार्रवाई की जाएगी. विजयन ने कहा कि शादी विवाह समारोह में 50 से ज्यादा लोगों और शोकसभा में 20 लोगों से ज्यादा लोगों पर पाबंदी लगी रहेगी. बता दें केरल में 16 नवंबर से केरल सरकार ने सबरीमला की वार्षिक यात्रा की भी शुरुआत हो रही है.

ये भी पढ़ें- कोरोना पर राहत भरी खबर; एक दिन में 11921 केस, लगभग 20 हजार मरीज ठीक हुए

[hstep]

16 नवंबर से सबरीमला की यात्रा
केरल सरकार ने सबरीमला की वार्षिक यात्रा के लिए विभिन्न कदमों की घोषणा करते हुए सोमवार को कहा कि कोविड-19 के सुरक्षा उपायों का कड़ाई से पालन करते हुए 16 नवंबर से दो महीने की यात्रा शुरू होगी. सरकार ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति भगवान अयप्पा मंदिर की इस यात्रा में हिस्सा नहीं लें. अधिकारियों के मुताबिक 10 साल से छोटे बच्चों और 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को यात्रा में जाने की अनुमति नहीं होगी.

सीमित श्रद्धालुओं को होगी मंदिर में जाने की इजाजत

सरकार ने कहा कि कोविड-19 महामारी के बीच सुरक्षित यात्रा के लिए सीमित संख्या में श्रद्धालुओं को मंदिर में जाने की अनुमति दी जाएगी और उन्हें पहले ऑनलाइन पंजीकरण कराना होगा. इस साल 16 नवंबर से शुरू होने वाली यात्रा की तैयारियों के लिए विभिन्न विभागों के साथ बैठक की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने कहा कि दर्शन के बाद श्रद्धालुओं को मंदिर में रूकने की अनुमति नहीं होगी. उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग अध्ययन करेगा कि चढ़ाई के दौरान क्या मास्क पहनने से श्रद्धालुओं को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें भी होंगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रद्धालुओं को पंबा नदी में स्नान करने की इजाजत नहीं होगी बल्कि नहाने के लिए इरूमेली और पंबा में नल लगाए जाएंगे. (भाषा के इनपुट सहित)

Most Popular