Live News – आप प्रवक्ता बोले- UP के 39 ज़िलों में 46 टॉप सीट पर बैठे अधिकारी ठाकुर, यह रही अधिकारियों की लिस्ट

 दिल्ली. यूपी (UP) के 39 ज़िलों में टॉप 46 सीट पर ठाकुर बिरादरी के अधिकारी बैठे हैं. फिर वो सीट चाहें पुलिस की हो या प्रशासन में. बाकी समाज की अनदेखी हो रही है. यही वजह है कि लोगों को इंसाफ भी नहीं मिल पा रहा है. यह आरोप हैं आम आदमी पार्टी (AAP) के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज के. इस मौके पर उन्होंने 46 अधिकारियों की लिस्ट भी पढ़कर सुनाई.  उनका यह भी कहना है कि यूपी के हाथरस (Hathras) में एक नाबालिग लड़की की रेप के बाद जीभ काट दी जाती है. दबंग उसे धमकी दे रहे हैं. उसे न इलाज मिल रहा है और न ही सुरक्षा. हमने उसे यूपी से लाकर एम्स (AIIMS) में भर्ती कराया है.

ठाकुर अधिकारियों की लिस्ट.

यह भी हैं आप नेता के आरोप

आप नेता और प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज का कहना है कि हाथरस में इस दौरान यह कोई एक रेप की घटना नहीं है. इससे पहले 24 अगस्त को भी एक नाबालिग लड़की के साथ रेप हुआ था. लेकिन इंसाफ किसी को भी नहीं मिला. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ एक खास जाति को बढ़ावा दे रहे हैं. और खासतौर से ब्राह्मण और दलितों के साथ अन्याय हो रहा है. उनका आरोप है कि जब डीएम और बड़े पुलिस अधिकारी ठाकुर हैं तो इंसाफ कैसे मिलेगा.यह भी पढ़ें- Delhi में केजरीवाल सरकार इनको दे रही है 400 यूनिट तक मुफ्त बिजली, आप भी उठाएं लाभ

AAP, spokesperson, Thakur, districts of UP, yogi adityanath, aiims, hathras, gangrape, आप, प्रवक्ता, ठाकुर, यूपी के जिले, योगी आदित्यनाथ, अति, हाथरस, गैंगरेप

ठाकुर अधिकारियों की लिस्ट.

भीम आर्मी नेता चन्द्रशेखर भी पहुंचे थे हाथरस

दरअसल, रविवार दोपहर हाथरस की दुष्कर्म पीड़िता युवती से मिलने के लिए चंद्रशेखर कार्यकर्ताओं के साथ अलीगढ़ के जेएन मेडिकल कॉलेज पहुंचे थे. इस दौरान मेडिकल कॉलेज में नारेबाजी व भीड़ को देख कोविड व आईसीयू वार्ड में भर्ती मरीजों व तीमारदारों को हुई परेशानी को देखते हुए पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है.
यह भी पढ़ें- अब इसलिए नहीं दिखाई दे रही हैं JNU छात्र नजीब को शहर-शहर सड़कों पर तलाशने वालीं उनकी मां फातिमा

मेडिकल कॉलेज में हुई थी नारेबाजी

बता दें जेएन मेडिकल कॉलेज में जिस आईसीयू वार्ड में हाथरस के थाना चंदपा क्षेत्र के बुलगढ़ी गांव की रहने वाली दुष्कर्म पीड़िता एडमिट है, उसी के बराबर में कोरोना वार्ड भी है. रविवार दोपहर जब पीड़िता से मिलने के लिए भीम आर्मी चोफ चंद्रशेखर आजाद अपने समर्थकों के साथ जेएन मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो उनके पीछे समर्थक भी आ गए और जय भीम जय भीम के नारे लगाने शुरू कर दिया. इस पर मरीजों में खलबली मच गई.

लोग हैरान थे कि इतनी संख्या में कोरोना काल में भीड़ कॉलेज के आईसीयू तक कैसे पहुंच गई. इस दौरान जमकर कोविड नियमों की धज्जियां भी उड़ीं, हालांकि बाद में भीड़ को कॉलेज गेट से बाहर किया गया, तब जाकर पुलिस व कॉलेज के अधिकारियों ने राहत की सांस ली.