Home झारखंड Jharkhand Live News - पर्यावरण संरक्षण और स्वरोजगार के लिए BCCL का...

Jharkhand Live News – पर्यावरण संरक्षण और स्वरोजगार के लिए BCCL का नया प्रोजेक्‍ट, भूमिगत खदान के ऊपर लगाए जाएंगे अर्जुन के पेड़

पर्यावरण संरक्षण के साथ-साथ स्वरोजगार के लिए बीसीसीएल ने एक महत्वाकांक्षी परियोजना का निर्णय लिया है। पीबी एरिया में भागाबांध कोलियरी के पास स्थित 20 हेक्टेयर जमीन पर 64,91,249 रुपऐ की लागत से 33320 अर्जुन पेड़ लगाए जाएंगे। योजना को लेकर वन विभाग को कार्यादेश दिया जा चुका है। खास बात यह है कि तैयार होने के बाद अर्जुन के पैड़ों पर रेशम के कीट पाले जाएंगे जिससे तसर मिलेगा। यानी उक्त योजना का लक्ष्य स्वरोजगार भी है। परियोजना प्रभावितों को तसर की खेती के लिए प्रेरित किया जाएगा।

मालूम हो शहतूत या अर्जुन जैसे पेड़ों पर ही रेशम के कीट पलते हैं । इन पेड़ों के पत्ते बड़े चाव से रेशम के कीट खाते हैं और उनका बेहतर विकास भी होता है जिससे काफी मात्रा तसर मिलता है। मामले पर बीसीसीएल पर्यावरण विभाग के एचओडी ने बताया कि पिछले जून महीने में ही योजना बनी थी और वन विभाग को कार्यादेश दिया गया। बीच में परिस्थिति कुछ ऐसी हो गई कि योजना के क्रियान्वयन में विलंब हुआ। वन विभाग की ओर से योजना का क्रियान्वन होना है। डीएफओ के नाम कार्यादेश जारी किया गया है। करार के मुताबिक प्रति हेक्टेयर 1666 अर्जुन पेड़ लगाए जाएंगे। दस साल तक वन विभाग पेड़ों की देखभाल करेगी और 80% स्वस्थ्य पेड़ के साथ प्लांटेशन को पूर्ण करेगी। जिस जमीन का चयन किया गया है वो उर्वर जमीन है। कंपनी के लीज होल्ड एरिया में है।

पेड़ों की कटाई के बदले यह वृक्षारोपण कार्यक्रम है। मालूम हो खनन कंपनियां माइनिंग के लिए जितने पेड़ों की कटाई करती हैं,बदले में दस गुणा पेड़ लगाने का प्रावधान है। बताया गया कि पहले पेड़ों की कटाई के लिए कंपनियां वन विभाग को पैसे का भुगतान कर देती थीं। इसके बाद वन विभाग जमीन की उपलब्धता के अनुसार कहीं भी वृक्षारोपण करती थी। अब बीसीसीएल ने अपने लीज होल्ड एरिया में वृक्षारोपण कराने का निर्णय लिया।

 

Most Popular