Home झारखंड Jharkhand Live News - झारखंड: हजारीबाग में मिलीं भगवान बुद्ध से जुड़ीं...

Jharkhand Live News – झारखंड: हजारीबाग में मिलीं भगवान बुद्ध से जुड़ीं छह मूर्तियां, बहोरनपुर में बौद्ध बिहार होने के प्रमाण

हजारीबाग में पालवंश कालीन भगवान बुद्ध से जुड़ी छह प्रतिमाएं मिली हैं। शहर से करीब 14 किलोमीटर दूर बहोरनपुर में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग की ओर से हो रही खुदाई के 23वें दिन सोमवार को भगवान बुद्ध की एक के ऊपर दूसरी अद्भुत प्रतिमा मिली। यह प्रतिमा भूमि स्पर्श मुद्रा में है। आर्कियोलॉजिस्ट डॉ वीरेंद्र ने बताया कि खुदाई की प्रक्रिया अभी जारी है। भगवान बुद्ध की दो प्रतिमाएं एक के ऊपर एक रखी हुई हैं। इस पर अध्ययन के बाद ही कुछ कहा जा सकेगा। चार अन्य प्रतिमाएं जो मिली हैं उनमें भगवान बुद्ध धर्मचक्र मुद्रा में हैं। कहीं महापरिनिर्वाण मुद्रा में भी हैं। एक देवी की प्रतिमा भी है जो बौद्ध देवी हैं। ये प्रतिमाएं सैंडस्टोन की बनी हैं। इन प्रतिमाओं का निर्माण 900 ईस्वी से 1200 ईस्वी के बीच होने का अनुमान जताया गया है।

खुदाई स्थल से कई मोटी ईंटें भी मिली हैं जिनकी लंबाई, चौड़ाई और ऊंचाई क्रमश: 37, 28 और 6 सेंटीमीटर है। इस स्थल पर पालवंशकालीन के अलावा किसी अन्य संस्कृति का प्रभाव तो नहीं था, इसकी जांच के लिए खुदाई स्थल के बीच में ढाई मीटर का बड़ा गड्ढा किया गया है। इससे पता चला है कि यहां की मिट्टी पूरी तौर पर प्राकृतिक है। यहां खुदाई अभी जारी है। कुल 80 मजदूर सुबह आठ बजे से पांच बजे तक प्रतिदिन खुदाई कर रहे हैं।

बौद्ध बिहार टेंपल कॉप्लेक्स का प्रमाण
बहोरनपुर में अब तक कुल छह प्रतिमाएं खुदाई में दिखी हैं। इसमें बौद्ध बिहार टेंपल कॉंप्लेक्स के होने का प्रमाण सामने आया है। यहां सदर प्रखंड के गुरहेत पंचायत में सीतागढ़ा पहाड़ी की तलहटी में एसटीजी 2021 में बुद्धिस्ट श्राइन का स्वरूप भी सामने आ गया है। इसमें तीन कमरे हैं, जिसमें प्रदक्षिणा पथ और आउटर बाउंड्री भी है। मुख्य गर्भगृह के पास प्रदक्षिणा पथ है।

खुदाई में कर रहे सहयोग
बहोरनपुर में खुदाई भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग के डॉ राजेंद्र देवरी के नेतृत्व में डॉ वीरेंद्र, डॉ नीरज कुमार मिश्रा के साथ की जा रही है। इसमें कई शोध छात्र भी मदद कर रहे हैं। इनमें रांची यूनिवर्सिटी के सोमनाथ भगत, सुनीता पांडेय, विनोबा भावे के जय कुमार, मिताली केरकेट्टा, गंगेश्वरी सिंह, सम्राट भट्टाचार्य आदि शामिल हैं।

संरक्षण की मांग: भाजपा नेता बटेश्वर मेहता ने सोमवार को बहोरनपुर का दौरा कर कहा कि इस पुरातात्विक स्थल का संरक्षण बहुत जरूरी है। सरकार को इस दिशा में पहल करनी चाहिए।
 

Most Popular