JDU से बिना शर्त गठबंधन के बाद जीतन राम मांझी आज करेंगे HAM के NDA में शामिल होने का ऐलान

bihar assembly elections  imamganj assembly  jitanram manjhi  imamganj assembly history  bihar assem

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के अध्यक्ष जीतन राम मांझी आज एनडीए में शामिल होने की विधिवत घोषणा कर सकते हैं। मांझी समन्वय समिति गठित करने के मुद्दे पर हाल ही में महागठबंधन से अलग हुए हैं। 

इससे पहले बुधवार को हम अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) के साथ हम के बिना शर्त गठबंधन करने की घोषणा की थी। पटना में उन्होंने कहा था कि हम जेडीयू के साथ मिलजुल कर चुनाव लड़ेंगे। चूंकि नीतीश जी एनडीए के अंग हैं, इसिलए हम भी एनडीए के पार्टनर हैं। लेकिन हम नीतीश कुमार के नजदीक बने रहेंगे। जेडीयू के साथ सीटों के तालमेल पर उन्होंने कहा  कि अभी सीटों को लेकर कोई विचार-विमर्श नहीं हुआ है। इसे बाद में बैठकर सुलझा लेंगे। 

राजद पर हमला बोल लालू पर कसा तंज
महागठबंधन छोड़ने के बाद और जदयू के साथ गठबंधन करने के दौरान मांझी ने राजद पर जमकर हमला बोला। मांझी ने कहा कि राजद में भ्रष्टाचार, भाई-भतीजा वाद है। लालू प्रसाद पर तंज कसते हुए मांझी ने कहा कि मेरा बेटा 8वीं पास नहीं है, वो एमए पास है। उल्लेखनीय है कि जीतन राम मांझी के एनडीए छोड़ने और महागठबंधन में शामिल होने के बाद लालू प्रसाद ने जीतन राम मांझी के बेटे संतोष सुमन मांझी को विधान परिषध का सदस्य बनवाया था।  

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार में शामिल LJP नीतीश कुमार की पार्टी के खिलाफ उम्मीदवार उतारने पर कर रही विचार

16 सीटों पर पार्टी की तैयारी पूरी
हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में 16 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रखी है। पार्टी ने अधिकतर मगध प्रमंडल के सीटों पर ही अपनी दावेदारी पेश की है। वैसे पार्टी का शीर्ष नेतृत्व कोसी और पूर्णिया क्षेत्र के कुछ सीटों को अपना प्रभाव क्षेत्र मान रहा है। हम की दावेदारी वाली मगध क्षेत्र की कुछ सीटें बीजेपी के प्रभाव वाली हैं। ऐसे में इस मुद्दे पर लंबी बातचीत चल सकती है।

ये भी पढ़ें: NDA में शामिल होते ही जीतन राम मांझी का लालू पर हमला- मेरा बेटा 8वीं नहीं, MA पास है

जेडीयू में विलय की चर्चा पर विराम
चर्चा चल रही थी कि महागठबंधन से अलग होने के बाद मांझी की पार्टी का जेडीयू में विलय होगा। हालांकि हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा ने यह साफ कर दिया कि जेडीयू के साथ पार्टी का विलय नहीं होगा। पार्टी नेतृत्व का कहना है कि पार्टी को समाप्त नहीं किया जाएगा। गठबंधन की घोषणा के बाद पार्टी अब सीट शेयरिंग के मुद्दे पर जेडीयू और एनडीए में शामिल अन्य दलों से बात करेगी।