JDU वर्चुअल रैली: 177 मिनट के भाषण में CM नीतीश ने विपक्ष पर किया पलटवार, तो अपनी सरकार की गिनाईं उपलब्धियां

bihar assembly elections  jdu virtual rally  nitish kumar  bihar corona  bihar flood  rjd  lalu pras

बिहार के मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा है कि बिहार को कुछ लोग बदनाम कर रहे हैं।ऐसे लोग कुछ भी बोलते रहते हैं। उन्होंने कहा कि हमनें 15 साल में बिहार को कहां से कहां पहुंचा दिया यह सबके सामने है। उन्होंने सोमवार को अपने निश्चय संवाद से पार्टी के चुनाव अभियान का आगाज किया। जदयू के अपने डिजिटल प्लेटफार्म से इस वर्चुअल रैली को संबोधित किया। करीब तीन घंटे के अपने संबोधन में नीतीश कुमार ने अपने 15 साल के कार्यकाल की महत्वपूर्ण उपलब्धियां गिनाई तो विपक्ष पर जमकर निशाना भी साधा। उन्होंने  नाम लिए बगैर लालू- राबड़ी शासनकाल पर निशाना साधा और तमाम मानकों पर पति-पत्नी के शासन की तुलना अपने शासनकाल से की। वहीं, राज्य सरकार के कार्यों के साथ ही बिहार के लोगों की सहायता और विकास कार्यों में केन्द्र के सहयोग को भी सराहा।

नीतीश कुमार ने राजद पर पलटवार करते हुए कोरोना संकट और बाढ़ राहत कार्यों में उसके आरोपों का बिंदुवार जवाब दिया। कहा,  कई लोग कुछ भी बोलते रहते हैं। बिहार की आलोचना करते हैं। राज्य को बदनाम करने में लगे रहते हैं। पता कुछ नहीं रहता। ये यहीं के लोग हैं। मैं किसी बात को प्रचारित नहीं करता। चुपचाप काम करता हूं। सेवा करना मेरा कर्तव्य है। वहीं, बहुत लोग प्रचार करते रहते हैं।

हमरा मकसद न्याय के साथ विकास
उन्होंने कहा कि हमलोगों का मकसद है न्याय के साथ विकास। यह सिर्फ घोषणा, बात या नारा नहीं है। सही दिशा में इसका क्रियान्वयन हुआ है। इसलिए कुछ बातों का जिक्र आज कर रहा हूं। 15 साल में बिहार को कहां से कहां पहुंचा दिया। लालू प्रसाद के बयान पर कहा कि अंदर हैं और ट्वीट करते हैं। बाहर किसी को रखा है जो यह सब उनके लिए करता है। क्या-क्या नहीं कहते हैं। लालू जी कहते हैं कि हम बिहार पर भार हैं। आप जेल में हैं तो लोगों को पता चल ही रहा है न कौन भार है? जब आपको काम करने का मौका मिला तब आपलोगों ने काम क्यों नहीं किया? जब तक मौका मिलेगा हमलोग काम करेंगे। आपको जो बोलना है, बोलते रहिए। आप अंदर हैं तो लोगों को मुक्ति मिली हुई है। जब भी चुनाव हो, जनता मालिक है और वही फैसला करेगी कि किसको काम करने का मौका देना है। हमलोग मिलजुल कर काम करते हैं, जबकि कुछ लोगों की समाज में लोगों को लड़ाने में दिलचस्पी रहती है।

बहुतों को धन से मतलब, हमलोगों को सिद्धांत से
तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना उन्होंने कहा कि बहुत लोगों को राजनीति में सिर्फ धन से मतलब है, हमलोगों को सिद्धांत से। जरा बताइए कहां से धन आया, कहा एक्सप्लेन कर दीजिए। नहीं किया तो हम किनारे हो गए। बहुत लोग अपने को ज्ञानी समझते हैं, लेकिन चरित्र नहीं है। जो भी बोलना है बोलिए, हमें परवाह नहीं है। 

हमलोग तो काम करते रहेंगे
जदयू अध्यक्ष ने कहा कि हम कितना भी काम करें, कुछ लोगों को हमसे नफरत है। लेकिन हमलोग तो काम करते रहेंगे। शराबबंदी से कुछ लोगों को परेशानी है। हम जबतक हैं, शराबबंदी छोड़ने वाले नहीं। इसे हर सूरते हाल में लागू रखेंगे। कुछ लोगों की हमसे नाराजगी है, उसकी चिंता नहीं है। यह महिलाओं और युवाओं की मांग पर लागू की गई है।

अपनी सरकार की बताईं उपलब्धियां
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 15 साल के अपने शासन में विकास कार्यों की उपलब्धियों का भी विस्तार से जिक्र किया। कहा कि आज बिहार में 5000 से अधिक मेगावाट की आपूर्ति और कंज्यूमर 1.61 करोड़ हैं। अब घर-घर में बिजली पहुंच गयी है, लालटेन की जरूरत ही नहीं रही। वर्ष 2005 से अबतक 6047 पुलों का निर्माण किया है। पथ विभाग में 54 हजार 461 करोड़ राशि खर्च हुई है। ग्रामीण सड़कों की लम्बाई 2005 के पहले 835 किमी थी, अब 96 हजार 500 किमी है। आज हर शहर से 5 घंटे में राजधानी पहुंचने के लक्ष्य पर काम हो रहा है। अक्टूबर तक हर घर में पहुंच जाएगा नल का जल। महिला सशक्तीकरण की दिशा में इतने काम हुए कि बेटियों का मनोबल ऊंचा हो गया है। पढ़ाई की व्यवस्था, नौकरियों में 35 प्रतिशत आरक्षण और सबसे पहले त्रिस्तरीय पंचायतों में 590 फीसदी आरक्षण। 

नई पीढ़ी को हमारे सभी साथी पुरानी बातों से परिचित कराइए। 15 साल के शासन का हाल बताइए। नयी पीढ़ी गड़बड़ लोगों के चक्कर में कहीं पड़ गयी तो जो काम हमलोगों ने किया है, सब ध्वस्त हो जाएगा’। – नीतीश कुमार, मुख्यमंत्री, बिहार