JDU का लालू प्रसाद पर बड़ा हमला, कहा- भ्रष्टाचार करने में शर्म नहीं आती, जेल में रहना शर्मनाक लगता है

bihar assembly elections  lalu prasad yadav  lalan singh  rjd  jdu  lalu prasad in ranchi jail  fodd

जदयू के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष व मुंगेर के सांसद ललन सिंह ने मंगलवार को आरजेडी सुप्रीमो लालू प्रसाद पर बड़ा हमला बोला। ललन सिंह ने कहा कि लालू की पुरानी आदत है, भ्रष्टाचार करने में उनको शर्म नहीं आती, जेल में रहना शर्मनाक लगता है। जदयू सांसद ने आरोप लगाया कि लालू आदतन भ्रष्टाचारी हैं। जदयू मुख्यालय में मीडिया के साथ बातचीत के दौरान जब ललन सिंह से लालू प्रसाद को लेकर दर्ज पीआईएल पर प्रतिक्रिया ली गई तो उन्होंने यह बयान दिया। 

ललन सिंह ने कहा कि पीआईएल किसने की है, पता नहीं है। उन्होंने कहा कि चारा घोटाले के एक मामले में लालू प्रसाद को 1998 में जेल हुआ था। बीएमपी के गेस्ट हाउस को जेल नोटिफाई कर लालू तब वहीं रह रहे थे। सुप्रीम कोर्ट ने तब टिप्पणी की थी जब जेल में सुरक्षा नहीं तो गेस्ट हाउस में कैसे सुरक्षा होगी। 

ललन सिंह ने कहा कि राजद में अब कोई दम नहीं है। यह उस पार्टी के नेताओं को भी पता है। चुनाव में वे कहां पर रहेंगे उनको यह भी जानकारी है। 2010 में राजद की जो स्थिति हुई थी, उससे भी खराब हालत बिहार विधानसभा चुनाव 2020 में पार्टी की होगी। राजद की स्थिति 2015 में नीतीश कुमार के कुशल नेतृत्व तथा चेहरे पर जनता में कायम भरोसा की वजह से बदली थी। 

इससे पहले तेघड़ा विधानसभा क्षेत्र से राजद के विधायक वीरेन्द्र कुमार ने मंगलवार को जदयू की सदस्यता ली। जदयू मुख्यालय में ललन सिंह ने उन्हें जदयू की सदस्यता दिलायी। पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी के निधन के कारण घोषित राष्ट्रीय शोक की वजह से मिलन समारोह आयोजित नहीं हो सका। ललन सिंह ने राजद विधायक को सांकेतिक रूप से दल की सदस्यता दिलायी। 

जदयू सांसद ने दावा किया कि राजद बाजार में सबसे कम बिकने वाला प्रोडक्ट हो गया है। यह पार्टी टिकट में नगद नारायण के लिए अपना विज्ञापन कर रही है। ताकि कुछ धन बन जाएगा। चुनाव परिणाम के बारे में राजद नेताओं को भी पता है।  

जदयू में शामिल हुए वीरेन्द्र कुमार ने कहा कि वे आरंभ से ही विचारधार के स्तर पर नीतीश कुमार के साथ हैं। नीतीश हमारे लिए हमेशा बड़े भाई रहे हैं। उनके नेतृत्व में बिहार के विकास का काम जितना जदयू ने किया है, उतना किसी ने नहीं किया।