JDU का आरोप, लालू परिवार में कोई ऐसा नहीं जो बिहार का हित सोचे

                                                                                     file photo

जदयू के मुख्य प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा है कि सरकार में विपक्ष की भूमिका भी महत्वपूर्ण होती है। विपक्ष का काम राज्य में विकास की रफ्तार और धारदार बनाना होता है, लेकिन बिहार में विपक्ष के नेता को सही और गलत कार्यों में अंतर करना आता ही नहीं है। कहा कि कम पढ़ा लिखा व्यक्ति भी नीतीश सरकार के विकास के कामों पर सवाल नहीं उठा सकता। 

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव जी, नीतीश कुमार का काम लोगों को दिखता है और उनके प्लान भी लोगों को समझ में आते हैं। लेकिन बिहार के लोगों को लालू का परिवार समझ में नहीं आता है। आरोप लगाया कि लालू परिवार का एक सदस्य ऐसा नहीं जो बिहार के हित के बारे में सोचे। सभी अपने अपने स्वार्थ के बारे में सोचते हैं। मैं मंत्री, सांसद कैसे बन जाऊं? विपक्ष का नेता, डिप्टी सीएम कैसे बन जाऊं? अकूत सम्पति कैसे जुटा लूं? बिहार आगे कैसे बढ़े इसके बारे में लालू यादव परिवार में सोचने वाला कोई नहीं है।

विपक्षी साजिशों को बेनकाब करेगा सीएम का वर्चुअल संवाद : JDU
आगामी 7 सितंबर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की प्रस्तावित वर्चुअल रैली की तैयारी को लेकर बुधवार को दीघा और दानापुर विधानसभा क्षेत्र के जदयू नेताओं की बैठक हुई। इसमें जदयू महासचिव सह पटना महानगर प्रभारी ई. शंभूनाथ सिन्हा ने कहा कि राज्य पर जब भी कोई संकट आया है विपक्षी नेताओं ने स्वयं को भूमिगत कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एवं बिहार की छवि को बदनाम करने की साजिश रची है। वर्चुअल रैली की सफलता उन तमाम साजिशों के खिलाफ जनता की तरफ से करारा जवाब होगा।