Home बिहार Good News: बीज में बिहार को आत्मनिर्भर बनाने की पहल तेज, कृषि...

Good News: बीज में बिहार को आत्मनिर्भर बनाने की पहल तेज, कृषि विभाग का ‘मिशन 4.0’ शुरू 

बिहार के कृषि विभाग ने बीज के मामले में राज्य को आत्मनिर्भर बनाने की पहल तेज कर दी है। इसके लिए विभाग ने इस वर्ष ‘मिशन 4.0’ शुरू किया है। खास बात यह है कि इस मिशन के तहत बीज निगम अब संकर किस्मों के धान और मक्के के बीज का भी उत्पादन करेगा। साथ ही सब्जियों के बीज का भी उत्पादन होगा। इन किस्मों के बीज के लिए राज्य के किसान पूरी तरह बाजार पर निर्भर रहते हैं। मिशन सफल हुआ तो बीज विक्रेताओं के हाथों किसान ठगने से बच जाएंगे।  
कृषि विभाग ने बीज निगम के इस अभियान में राज्य में कम से कम चार लाख क्विंटल बीज उत्पादन का लक्ष्य रखा है। साथ ही हर साल जितने किसानों को सरकार बीज आपूर्ति करती है उससे पांच लाख ज्यादा किसानों को आपूर्ति करने का लक्ष्य इस मिशन में तय किया गया है। अगर उत्पादन क्षमता इतनी हो गई तो सरकारी योजनाओं के लिए बीज बाजार से खरीदना नहीं पड़ेगा। 

 राज्य सरकार पहले कृषि रोडमैप से ही बीज पर जोर दे रही है। कई फसलों में बीज प्रतिस्थापन दर बढ़ाने में सरकारी योजनाएं सफल हो गई हैं। लिहाजा बीज की मांग बढ़ रही है। अभी राज्य के किसानों को लगभग 12 लाख क्विंटल बीज की जरूरत होती है। केवल सरकारी योजनाओं के लिए ही चार लाख क्विंटल बीज की जरूरत होती है। लेकिन इसका उत्पादन हर साल घटते जा रहा है। पांच साल पहले 2014-15 में दो लाख 83 हजार क्विंटल बीज का उत्पादन हुआ था। उसके बाद उत्पादन में हर साल गिरावट दर्ज की गई। गत वर्ष 2018-19 में बीज का उत्पादन मात्र एक लाख 36 हजार क्विंटल हुआ। अब निगम अपने मिशन में सफल हुआ तो सरकार अपनी जरूरत पूरा कर लेगी। साथ ही बाजार के संकर किस्मों से हर साल खराब होने वाली फसल का संकट भी कम हो जाएगा। 

राज्य में बीजों की जरूरत
09 लाख क्विंटल गेहूं
02 लाख क्विंटल धान
01 लाख क्विंटल मक्का
15 हजार क्विंटल दलहन
 

Most Popular