Homeमनोरंजन#BoycottBollywood की भेंट चढ़ गईं ये बड़ी फिल्में! सुनील शेट्टी को क्यों...

#BoycottBollywood की भेंट चढ़ गईं ये बड़ी फिल्में! सुनील शेट्टी को क्यों लगानी पड़ी सरकार से गुहार?

बॉलीवुड एक्टर सुनील शेट्टी ने गुरुवार को योगी आदित्यनाथ से मुलाकात में कहा कि वही बायकॉट बॉलीवुड ट्रेंड को खत्म कर सकते हैं। सुनील शेट्टी ने कहा कि इंडस्ट्री में हर कोई ड्रग्स नहीं लेता है। सुनील शेट्टी ने UP के CM से कहा कि वह प्रधानमंत्री मोदी से कहें कि बायकॉट बॉलीवुड को बंद करवाएं। लेकिन अब सवाल यह उठता है कि सुनील शेट्टी को यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ से ऐसी बात क्यों कहनी पड़ी? तो चलिए समझते हैं कि यह पूरा मामला क्या है?

2022 में इंडस्ट्री को हुआ करोड़ों का नुकसान
दरअसल साल 2022 में आई कई बड़ी और महंगी फिल्मों को बायकॉट बॉलीवुड का प्रकोप झेलना पड़ा। जहां ₹180 करोड़ के बजट से बनी फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ इसके कॉन्टेंट के चलते बायकॉट कर दी गई, वहीं ‘सम्राट पृथ्वीराज’ और ‘विक्रम वेधा’ जैसी फिल्में भी बायकॉट के चलते बुरी तरह पिट गईं। इस सभी फिल्मों को बायकॉट करने के पीछे अलग-अलग कारण रहे, लेकिन नतीजा यह हुआ इंडस्ट्री को करोड़ों का नुकसान हुआ।

बुरी तरह पिट गईं बड़े सितारों की भी फिल्में
साल 2022 में पिटी फिल्मों की लिस्ट छोटी नहीं है। ₹150 करोड़ के बजट में बनी रणबीर कपूर की फिल्म ‘शमशेरा’ को इसलिए बायकॉट किया गया क्योंकि इसमें माथे पर टीका लगाए और चोटी रखाए संजय दत्त को विलेन के लुक में दिखाया गया था। वहीं रणबीर कपूर के बीफ पर दिए गए पुराने बयानों के चलते उनकी फिल्म ‘ब्रह्मास्त्र’ को भी बायकॉट करने की भरसक कोशिश की गई। इस लिस्ट में रणबीर कपूर की अन्य फिल्में भी शामिल रहीं।

ड्रग्स से लेकर सुशांत की मौत तक, यूं बनी खराब इमेज
दीपिका पादुकोण की फिल्म ‘गहराइयां’, अक्षय कुमार की फिल्म ‘रामसेतु’ और शाहरुख खान की फिल्म ‘पठान’ भी इस लिस्ट में शामिल हैं। लेकिन सवाल यह उठता है कि आखिर इस बायकॉट बॉलीवुड ट्रेंड की शुरुआत कैसे हुई? दरअसल सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद से तमाम फैंस बॉलीवुड को अलग नजरिए से देखने लगे हैं। फिर जब बार-बार किसी न किसी एक्टर का नाम ड्रग्स से जुड़ता रहा तो इंडस्ट्री की इमेज निगेटिव बनती चली गई।

सुनील ने कहा- आपके कहने से ट्रेंड रुक सकता है
इतना ही नहीं इस पूरे ट्रेंड में साउथ के सिनेमा की भी अप्रत्यक्ष रूप से अहम भूमिका रही। दरअसल साउथ की फिल्मों में जहां धार्मिक चीजों का खास ध्यान रखते हुए उन्हें नई और यूनिक कहानियों के साथ पेश किया जा रहा था वहीं बॉलीवुड से दर्शक खास खुश नहीं नजर आए। ऐसे में कुल मिलाकर बॉलीवुड को साल 2022 में भारी नुकसान झेलना पड़ा। ऐसे में सुनील शेट्टी ने पूरी इंडस्ट्री की तरफ से खुलकर सरकार के सामने अपनी बात रखी और कहा कि लोगों को वापस में थिएटर्स में बुलाना जरूरी है और यह ट्रेंड आपके कहने से ही रुक सकता है। उन्होंने कहा कि एक गंदी मछली तो कहीं भी हो सकती है।

Most Popular