Home बिहार Bihar news- Bihar Panchayat election 2021 : बिहार पंचायत चुनाव को लेकर...

Bihar news- Bihar Panchayat election 2021 : बिहार पंचायत चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग से बड़ी मांग करने जा रही है बीजेपी

हाइलाइट्स:

  • बिहार पंचायत चुनाव 2021 पर भी मंडराया कोरोना का साया
  • पहले अप्रैल-मई में पंचायत चुनाव कराए जाने की जताई जा रही थी संभावना
  • बिहार पंचायत चुनाव दलगत आधार पर नहीं लेकिन सभी राजनीतिक दलों ने कस रखी है कमर
  • निर्वाचन आयोग का निर्देश उम्मीदवार नहीं कर सकता प्रचार के दौरान राजनीतिक दल के झंडे का इस्तेमाल
  • पटना।बिहार पंचायत चुनाव 2021 को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने आचार आदर्श संहिता को लेकर निर्देश जारी कर दिया है। चुनाव आयोग की ओर से जारी दिशा निर्देश के अनुसार कोई भी उम्मीदवार किसी राजनीतिक दल के नाम या दल के झंडे की आड़ में चुनाव प्रचार नहीं कर सकता। चूंकि बिहार में पंचायत चुनाव दलगत आधार पर नहीं हो रहे हैं। इसलिए ऐसा करने पर उम्मीदवार पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

    निर्वाचन आयोग के अनुसार आदर्श आचार संहिता जिला निर्वाचन पदाधिकारी और पंचायत जिला अधिकारी द्वारा संबंधित जिला में चुनाव की अधिसूचना जारी होने से लेकर चुनाव के समाप्ति तक यह नियम जारी रहेगा। निर्वाचन आयोग की ओर से यह भी कहा गया है कि किसी भी प्रत्याशी को ऐसा काम नहीं करना है जिससे धर्म संप्रदाय या जाति के लोगों की भावना को ठेस पहुंचे और उससे तनाव पैदा हो। इसके अलावा पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों को किसी भी धार्मिक स्थल का उपयोग चुनाव प्रचार करने की अनुमति नहीं होगी।

    इस पूरे मामले में बीजेपी पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक ओम प्रकाश भुवन ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उनका कहना है कि लोकतंत्र में एक नागरिक या मतदाता होने के नाते उस मतदाता या नागरिक को किसी भी चुनाव प्रक्रिया में किसी भी उम्मीदवार को समर्थन करने या विरोध करने का लोकतांत्रिक अधिकार प्रत्येक नागरिक को है। ऐसे में बिहार पंचायत चुनाव में भी प्रत्येक उम्मीदवार अपने समर्थन में संस्थाओं, राजनीतिक दल के नेताओं से समर्थन मांगने और उनके समर्थन को पाने का अधिकार रखता है। इसके साथ ही चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों को यह भी अधिकार है कि वह अपने मतदाता को बता सके कि उसे किस दल का या किस राजनीतिक दल के नेता का समर्थन प्राप्त है।

    बीजेपी पंचायती राज प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक ओम प्रकाश भुवन ने यह भी कहा कि लोकतंत्र में हर मतदाता सभी उम्मीदवार भी किसी न किसी राजनीतिक दल या विचारधारा के साथ होता है। फिर उसे अपने संबंधित दल और उसका नाम लेने में कोई कैसे मना कर सकता है। क्या किसी उम्मीदवार को ऐसा करने से रोकना अलोकतांत्रिक नहीं होगा। ओम प्रकाश ने कहा कि बिहार पंचायत चुनाव में किसी उम्मीदवार को राजनीतिक दल का नाम लेने से रोका जाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि वे जल्द ही इस मामले में निर्वाचन आयोग से आग्रह करेंगे कि बिहार पंचायत चुनाव में उम्मीदवारों को किसी भी राजनीतिक दल के झंडे का इस्तेमाल करने की अनुमति दें।

    आपको बता दें कि भले ही बिहार पंचायत चुनाव 2021 दलगत आधार पर नहीं हो रहा है। लेकिन बिहार की तमाम राजनीतिक पार्टियां पंचायत चुनाव की तैयारी में लगी हुई है। सभी राजनीतिक दल अपने अपने कार्यकर्ताओं को त्रिस्तरीय बिहार पंचायत चुनाव के दंगल में उतारने की तैयारी कर चुके हैं। बीजेपी ने तो साफ ऐलान कर दिया है कि वह जिला परिषद के चुनाव में अपने उम्मीदवार को मैदान में उतारेगी। स्पष्ट है कि बीजेपी द्वारा निर्वाचन आयोग से पंचायत चुनाव में उम्मीदवारों को राजनीतिक दल के झंडे का इस्तेमाल करने देने की अनुमति का आग्रह अगर चुनाव आयोग मान लिया जाता है तो सभी दलों को इसका फायदा मिलेगा।

    Most Popular