Home बिहार Bihar News- लालू-राबड़ी शासन के घोटालों, भ्रष्टाचार, अपराध व नरसंहार की डायरी...

Bihar News- लालू-राबड़ी शासन के घोटालों, भ्रष्टाचार, अपराध व नरसंहार की डायरी है phulwariyatohotwar.com

लालू-राबड़ी शासन पर वेबसाइट के जरिए जदयू ने साधा निशाना

जदयू नेता और मंत्री नीरज कुमार ने लालू प्रसाद को लेकर phulwariyatohotwar.com (फुलवरिया से होटवार जेल) नाम की वेबसाइट की लांचिंग की है। इसके जरिए जदयू ने लालू प्रसाद पर निशाना साधा है। इस वेबसाइट में लालू-राबड़ी शासन के दौरान हुए घोटालों, भ्रष्टाचार, अपराध और विकासहीन बिहार के बारे में ब्योरा दिया गया है।

जदयू ने वेबसाइट का नाम दिया फुलवरिया से होटवार जेल

लालू-राबड़ी शासन की कहानीदूसरे चरण के चुनाव से पहले वेबसाइट के जरिए राजद पर बड़े हमले के तौर पर इस वेबसाइट को देखा जा रहा है। वेबसाइट के जरिए बताया गया है कि लालू-राबड़ी शासन में बिहार की क्या स्थिति थी। भ्रष्टाचार, अपराध चरम पर था, नए घोटालों की हर दिन चर्चा होती थी। वेबसाइट के फ्रंट में ही लालू प्रसाद को लेकर दो सांकेतिक कॉर्टून बनाए गए हैं। इनके माध्यम से जदयू ने बिहार की दशा क्या थी, इसको बताने की कोशिश की है। यह भी बताया गया है कि विजिलेंस डीएसपी विद्युत भूषण द्विवेदी की रिपोर्ट को आधार बनाकर समय पर कारगर कार्रवाई की गई होती तो चारा घोटाले में 750 करोड़ रुपए लुटने से बच जाते।

लालू परिवार के हर सदस्य की संपत्ति का ब्योरावेबसाइट में चार सेक्शन बनाए गए हैं। इनके नाम भ्रष्टाचार, अपराध, नरसंहार और विकासहीन बिहार दिए गए हैं। भ्रष्टाचार में चार सबसेक्शन बनाए गए हैं। इनमें घोटाला, घोषित संपत्ति, अघोषित संपत्ति और जब्त संपत्ति का विवरण दिया गया है। लालू परिवार के हर सदस्य की कितनी संपत्ति है इसका जिक्र किया गया है। साथ ही बिहार भवन घोटाला, यात्रा भत्ता घोटाला समेत अनेक घोटालों का ब्योरा दिया गया है।

नरसंहार में किसका जिक्रलालू-राबड़ी शासनकाल में बिहार में जितने नरसंहार हुए हैं उनका जिक्र भी किया गया है। जहानाबाद, पटना, अरवल, गया, नवादा समेत कई जिलों में सिलसिलेवार हुए नरसंहारों को डेटा के जरिए बताया गया है। 1990 से लेकर 2005 तक के सभी नरसंहारों में कितने लोगों की हत्याएं हुई थीं, इसकी जानकारी दी गई है।

इस तरह की फोटो लगाकर नरसंहार की वीभत्सता दिखाने की कोशिश की गई है।

सात सब सेक्शन में नहीं है कंटेटहालांकि, वेबसाइट में अपराध और विकासहीन बिहार में सात सब सेक्शन बनाए गए हैं लेकिन, किसी में भी कंटेट नहीं है। ये सब फिलहाल खाली हैं। अपराध सेक्शन में लालू परिवार के आपराधिक इतिहास के साथ राजद नेताओं के भी आपराधिक इतिहास का जिक्र किया गया है। लेकिन, इस सब सेक्शन पर क्लिक करने पर किसी तरह का कंटेट नहीं दिखता है। इसी तर्ज पर विकासहीन बिहार में शिक्षा, सड़क, स्वास्थ्य, बिजली का सब सेक्शन बनाया गया है। लेकिन, इस बारे में कोई भी जानकारी नहीं दी गई है।

इन घोटालों की दी गई है जानकारीकोबाल्ट मशीन खरीद घोटालावन व कीटनाशक घोटालाशिक्षा घोटालालेक्चरर नियुक्ति घोटालामेधा घोटालाइंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा घोटालानन बैंकिंग घोटालाकृषि विभाग, नियुक्ति व बीज घोटालेअलकतरा घोटालापोषाहार घोटालादवा घोटालाकुष्ठ उन्मूलन योजना घोटालाविज्ञान व प्रौद्योगिकी विभाग की नियुक्तियों में घोटालामस्टर रौल व वर्दी घोटालाइंदिरा आवास, हुडको, लाल कार्ड, भूमि, पेट्रोल अपमिश्रण, पासपोर्ट, चीनी, पाइप, अधिकाई व्यय, कोयला, मंत्रिमंडलीय उपस्कर उप शीर्ष, अजाविनी, बिजली बिल घोटालाकंबल घोटाला

नरसंहार से संबंधित हर जिले की लगाई गई तस्वीर

इन नरसंहारों का किया गया जिक्रलालू-राबड़ी शासनकाल में नालंदा जिले में 4 नरसंहार में 16 लोगों की नृशंस हत्या हुई थी।लालू-राबड़ी शासनकाल में अरवल जिले (तत्कालीन जहानाबाद) में हुए 14 नरसंहार में 175 लोगों की हत्या हुई थीलालू-राबड़ी शासनकाल में औरंगाबाद जिले में हुए 5 नरसंहार में 51 लोगों की नृशंस हत्या की गई थी।लालू-राबड़ी शासनकाल में पटना जिले में 15 नरसंहार में 96 लोगों की नृशंस हत्या की गई थी।लालू-राबड़ी शासनकाल में बक्सर जिले में 2 नरसंहार में 16 लोगों की हत्या हुई थी।

Most Popular