Home बिहार Bihar news- मुख्तार अंसारी की सुपारी लेने वाला बिहार का 'लंबू', लड़की...

Bihar news- मुख्तार अंसारी की सुपारी लेने वाला बिहार का ‘लंबू’, लड़की के लिए 12 साल की उम्र में मर्डर, तीन बार जेल से भी भागा

हाइलाइट्स:

  • मुख्तार अंसारी को मारने के लिए बिहार के लंबू शर्मा ने ली थी सुपारी
  • मुख्तार को मारने कि लिए मानव बम का इस्तेमाल कर जेल से भागा था
  • 12 साल की उम्र में पहला मर्डर, तीन बार जेल से फरार हो चुका है लंबू
  • बिहार के भोजपुर जिले के पीरो का रहनेवाला हैं लंबू शर्मा
  • पटनापंजाब के रोपड़ जेल से यूपी के बांदा जेल में बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी पहुंच चुके हैं। लंबी खींचतान के बाद आखिरकार मुख्तार अंसारी को उत्तर प्रदेश लाया जा सका। जिसके लिए इतनी खींचतान मची थी, उसकी सुपारी बिहार के भोजपुर जिले के लंबू शर्मा ने 6 साल से पहले 6 करोड़ में ली थी। ये उसका कबूलनामा है। हालांकि उसका ‘मिशन’ पूरा नहीं हो पाया और गिरफ्तार कर लिया गया।

    मुख्तार का सुपारी लेनेवाला लंबू मामूली अपराधी नहींउत्तर प्रदेश के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी को मारने की सुपारी लेने वाला लंबू शर्मा कोई मामूली अपराधी नहीं है। वो तीन बार जेल से भाग चुका है। उसने पहला मर्डर 12 साल की उम्र में लड़की के लिए किया था। लंबू शर्मा बिहार के भोजपुर जिले के पीरो का रहने वाला है। छह साल पहले 2015 में मुख्तार अंसारी को मारने का सौदा पूरे छह करोड़ रुपए में तय हुआ था। इसमें से 50 लाख रुपए एडवांस देने की बात हुई थी। खतरनाक मकसद को पूरा करने के लिए सच्चिदानंद शर्मा उर्फ लंबू शर्मा आरा जेल से पेशी के लिए कोर्ट में लाए जाने के बाद मानव बम ब्लास्ट कर फरार हो गया था। कुछ महीने बाद ही उसे दिल्ली और बिहार पुलिस के ज्वाइंट ऑपरेशन में गिरफ्तार कर लिया गया। इस मामले में लंबू शर्मा को फांसी की सजा हो चुकी है।

    12 साल की उम्र में लड़की के लिए पहला मर्डरयूपी के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी आजकल चर्चा में हैं। मुख्तार के नाम से बड़े-बड़े गैंगस्टर खौफ खाते हैं। मुख्तार का असर न सिर्फ उत्तर प्रदेश के पूर्वांचल बल्कि बिहार के कई सीमावर्ती जिलों में भी है। मगर उनका सुपारी लेनेवाला लंबू शर्मा ने अपने जीवन का पहला मर्डर केवल 12 साल की उम्र में किया था। भोजपुर जिले के पीरो का रहने वाला लंबू एक लड़की से प्यार करता था। उसी लड़की को एक और शख्स भी चाहता था, जिसकी लंबू ने हत्या कर दी। तब उसे नाबालिग होने की वजह से कम सजा हुई। कुछ ही महीने बाद बाल सुधार गृह से फरार हो गया। बाद में पकड़ा गया तो दूसरी बार भी न्यायिक हिरासत से भाग गया। जेल में ही उसने एक नक्सली से बम बनाना भी सीख लिया। Bihar News : बिन फेरे हम तेरे, बांका में बिना शादी दूल्हे के साथ विदा हुई दुल्हन…जानें पूरा मामलातीसरी बार जेल से भागने के लिए मानव बम का इस्तेमालतीसरी बार न्यायिक हिरासत से भागने के लिए उसने बेहद खतरनाक साजिश रची। उसने नगीना नाम की एक महिला का इस्तेमाल मानव बम के तौर पर किया। इस मामले में नगीना को यह कह कर धोखे में रखा गया कि उसके झोले में रखी चीज एक कैमरा है। बटन दबाते ही उसकी (लंबू) तस्वीर कैमरे में कैद हो जाएगी। फिर महिला आरा सिविल कोर्ट में बम लेकर पहुंची और लंबू के पास पहुंचते ही उसका स्वीच दबा दिया। धमाके में महिला के साथ-साथ एक पुलिसवाला भी मारा गया। लंबू और एक अन्य अपराधी वहां से फरार हो गया। पहली बार किसी अपराधी ने पेशी के दौरान भागने के लिए कोर्ट में मानव बम का इस्तेमाल किया था। आखिरकार लंबू दिल्ली से पकड़ा गया। पूछताछ में उसने पुलिस को बताया कि वो यूपी के विधायक मुख्तार अंसारी को मारने के लिए जेल से फरार हुआ था।

    Bhojpur News : भोजपुर में हर्ष फायरिंग, स्टेज पर नाच रही डांसर को लगी गोली… देखिए वीडियो

    बिहार के बाहुबली नेता सुनील पाण्डेय भी आए थे लेपेट मेंबिहार के बाहुबली नेता और तब भोजपुर जिले के पीरो विधानसभा क्षेत्र से जेडीयू के विधायक रहे सुनील पाण्डेय लंबू के बयानों की वजह से मुश्किल में पड़ गए थे। यूपी के बाहुबली बृजेश सिंह और खुद मुख्तार अंसारी भी लंबू शर्मा के दिए बयान से आफत में आ गए थे। जदयू के विधायक सुनील पाण्डेय को तो जेल तक जाना पड़ा था। हालांकि बाद में वो बरी हो गए। बृजेश सिंह के खिलाफ लंबू के बयान वाले मामले में चार्जशीट नहीं दाखिल किया जा सका। मुख्तार अंसारी के खिलाफ जांच में पुलिस को कोई सबूत ही नहीं मिला। आरा सिविल कोर्ट ने लंबू के खतरनाक रिकॉर्ड को देखते हुए 2019 में फांसी की सजा सुनाई।

    Most Popular