Home बिहार Bihar News- भागलपुर के लोजपा प्रत्याशी पर कल किया था FIR, आज...

Bihar News- भागलपुर के लोजपा प्रत्याशी पर कल किया था FIR, आज वोटिंग खत्म होते ही घर पर हंगामा

राजेश वर्मा के घर के बाहर जमा भीड़।

2019 के लोकसभा चुनाव के समय के एक ऑडियो को कथित तौर पर अपने फायदे के लिए और गोड्डा के भाजपा सांसद डॉ. निशिकांत दुबे के खिलाफ अभी वायरल किया जाना भागलपुर के लोजपा प्रत्याशी राजेश वर्मा पर भारी पड़ गया। 02 नवंबर को राजेश वर्मा के खिलाफ डॉ. निशिकांत दुबे के एक रिश्तेदार ने FIR दर्ज कराया और फिर 03 नवंबर को वोटिंग खत्म होते हुए करीब दो दर्जन लोग घर पर चढ़ गए। लोगों को घर में घुसते देख प्रत्याशी ने महिलाओं को बम-गोली के डर से अंदर जाने के लिए कहा और साथ ही आवाज लगाई- “घर में घुसा तो गोली मार दूंगा। पिस्टल…”। एक तरफ भागलपुर पुलिस EVM बदले जाने की अफवाह से भड़की भीड़ को नियंत्रित कर रही थी और दूसरी तरफ खरमनचक स्थित लोजपा प्रत्याशी राजेश वर्मा के घर पर हमले की जानकारी से परेशान हो गई। पुलिस को यहां भी आननफानन में आना पड़ा, हालांकि वरीय अधिकारियों के आने की सूचना पर ही मामला शांत हो गया।

FIR के मजमून से समझ सकते हैं गुस्से की वजहखुद को गोड्डा सांसद का रिश्तेदार बताते हुए 02 नवंबर को आदर्श कोतवाली थाने में भागलपुर निवासी सुलोचन पांडेय ने FIR दर्ज कराई थी कि पूर्व सांसद सैयद शाहनवाज हुसैन, बक्सर सांसद व केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे और गोड्डा सांसद डॉ. निशिकांत दुबे के परिवार से जुड़ी महिलाओं की फोटो का राजेश वर्मा ने लोकसभा चुनाव में गलत इस्तेमाल किया था। गोड्डा में अमर्यादित टिप्पणी के साथ ऐसे पोस्टर बंटवाए जाने की सूचना पर डॉ. निशिकांत दुबे और डॉ. नीतीश दुबे के बीच 2019 में ही बातचीत हुई थी, जिसकी रिकॉर्डिंग डॉ. नीतीश ने राजेश वर्मा को दे दी थी। विधानसभा चुनाव में राजेश वर्मा ने उसी ऑडियो को वायरल कर भाजपा के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश की है और साथ ही डॉ. निशिकांत दुबे को बदनाम भी किया। यह FIR दाखिल होने के बाद राजेश वर्मा ने कहा कि “डॉ. निशिकांत ने चुनाव के समय मुझे और मेरे परिवार को अपमानित करने की साजिश रची है। लोग क्षेत्र में मेरे किए काम को भूल नहीं सकते, इसलिए उन्हें भटकाया जा रहा है। चुनाव में भाजपाई प्रत्याशी को जिताने के लिए मतदान के ठीक एक दिन पहले FIR दर्ज कराई गई।​” खबर लिखे जाने तक राजेश वर्मा आदमपुर थाने में जमे हैं।

मामले में दोनों ओर से प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. राजेश वर्मा ने कुश पांडेय, करन शर्मा के साथ कुछ अज्ञात लोगों पर प्राथमिकी दर्ज किया है जबकि दूसरे पक्ष से राजेश वर्मा को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।

Most Popular