Home बिहार Bihar News- चुनाव आयोग को चुनौती दे रही सोशल डिस्टेंसिंग का नियम...

Bihar News- चुनाव आयोग को चुनौती दे रही सोशल डिस्टेंसिंग का नियम तोड़ती भीड़, पहले चरण के मतदान से भी नहीं ली सीख

पटना के फतुहा मतदान केंद्र पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे वोटर।

कोरोना काल में सुरक्षित मतदान कराना चुनाव आयोग की जिम्मेवारी है। सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराते हुए मतदान कराना चुनाव आयोग के लिए चुनौती बनती जा रही है। यह हम नहीं कह रहे , बल्कि तस्वीरें बयां कर रही हैं। दैनिक भास्कर ने पहले चरण के मतदान के दौरान भी मतदान केंद्रों पर कोरोना के प्रति बरती जा रही लापरवाही की जमीनी हकीकत सामने रखी थी। यह भी उजागर किया था कि तमाम दावों के बावजूद कई मतदान केंद्रों पर वैसी तैयारी नहीं दिखी। कहीं थर्मल स्क्रीनिंग नहीं हो पाई तो कहीं वोटरों को ग्लव्स नहीं मुहैया कराया गया। कहीं डस्टबिन की व्यवस्था नहीं होने से ग्लव्स बिखरे पड़े मिले। मास्क भी उपलब्ध नहीं कराया जा सका। आज दूसरे चरण के चुनाव में भी मतदान केंद्रों से बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग के मतदाताओं की तस्वीरें आ रही हैं। कहीं-कहीं गंदगी के बीच लोग वोट गिरा रहे हैं।

ग्रामीण इलाके तो छोड़िए राजधानी भी नहीं संभाल पाया आयोगदूसरे चरण में राजधानी पटना में मतदान की प्रक्रिया जारी है। ग्रामीण इलाकों को तो छोड़ दीजिए चुनाव आयोग राजधानी भी नहीं सम्भाल पाया। कई मतदान केंद्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग तो दूर, कतार में खड़े लोग मास्क तक नहीं पहने हैं। कतार में लोग एक-दूसरे से इतना सटकर खड़े हैं मानों कोरोना का कोई डर ही नहीं हो।

किस काम की ऐसी तैयारीकोरोना काल में सुरक्षित मतदान के लिए चुनाव आयोग ने इस बार कई इंतजाम किए हैं। मतदान केंद्रों पर लोगों को कतार में लगने के लिए गोल घेरा बनाया गया है। गेट पर प्रवेश करते समय मतदानकर्मी पहले वोटरों की थर्मल स्क्रीनिंग करनी है फिर उन्हें वोट गिराने के लिए अंदर भेजना है। कोरोना काल में सुरक्षित मतदान के लिए मतदान कर्मियों के अलावा इस बार स्वास्थ्य विभाग के कर्मियों को भी झोंक दिया गया है। आशा, एएनएम से लेकर आंगनबाड़ी सेविकाएं और जीविका दीदियों को भी कई चरणों की ट्रेनिंग दी गई। इसके बावजूद कोई असर नहीं दिख रहा है।

Most Popular