HomeबिहारBihar Live News - कोरोना की दूसरी लहर में बिहार के 46...

Bihar Live News – कोरोना की दूसरी लहर में बिहार के 46 डॉक्टरों की गई जान, IMA ने दी श्रद्धांजलि

बिहार में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच इस वर्ष 46 डॉक्टरों ने अपनी शहादत दी है। जबकि पिछले वर्ष कोरोना की पहली लहर के वक्त करीब 50 डॉ.क्टरों की मृत्यु हुई थी। रविवार को आईएमए, बिहार से जुड़े एक हजार से अधिक सदस्य डॉक्टरों ने  सभी जिलों में मृतक डॉक्टरों को श्रद्धांजलि अर्पित की और दो मिनट का मौन रखकर सभी मृतक डॉक्टरों की आत्मा की शांति की प्रार्थना ईश्वर से की। 

आईएमए, बिहार भवन में आईएमए, बिहार के वरीय उपाध्यक्ष डॉ अजय कुमार की अध्यक्षता में इन कोरोना वारियर्स की स्मृति में शोक सभा का आयोजन किया गया। इसमें आईएमए के राष्ट्रीय निर्वाचित अध्यक्ष डॉ सहजानंद प्रसाद सिंह, डॉ. वी एस सिंह,डॉ विमल कारक,डॉ सुनील कुमार, डॉ बसन्त सिह, डॉ शिवेन्द़ कु.सिन्हा,डॉ हरिहर दीक्षित, डॉ सच्चिदानंद कुमार सहित सभी जिलों के पदाधिकारी और चिकित्सक शामिल हुए। इस मौके पर डॉ अजय कुमार ने कहा कि अभी 5 डॉक्टर कोरोना से पीड़ित होकर वेंटिलेटर पर हैं जबकि 20 डॉक्टरों का इलाज आईसीयू में चल रहा है।

कोरोना से मौत पर शिक्षकों को भी मिले विशेष पेंशन 
बिहार के नियोजित शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों ने भी कोरोना संक्रमण से मौत होने पर राज्य के अन्य कर्मियों की भांति मुआवजा, आश्रितों को सरकारी नौकरी एवं विशेष पारिवारिक पेंशन देने की मांग की है। साथ ही कोरोना की भयावहता को देखते हुए विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों की तर्ज पर सरकारी स्कूलों में भी अविलंब ग्रीष्मावकाश घोषित करने की मांग की है। आल इंडिया फेडरेशन ऑफ एजुकेशन एसोसिएशन (एआईएफईए) के राष्ट्रीय सचिव शैलेन्द्र कुमार शर्मा एवं राज्य पार्षद सह पूर्व सदस्य शैक्षिक परिषद जयनंदन यादव ने राज्य सरकार से कोरोना से मृत नियोजित शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को भी 50 लाख मुआवजा, आश्रितों को सरकारी नौकरी एवं विशेष पारिवारिक पेंशन देने की मांग की है। 

Most Popular