Home बिहार Bihar Live News - आरा: सेना बहाली के लिए सदर अस्पताल में...

Bihar Live News – आरा: सेना बहाली के लिए सदर अस्पताल में कोरोना टेस्ट कराने पहुंचे छात्रों को सुरक्षाकर्मियों ने पीटा, टांग टूटी

बिहार के आरा सदर अस्पताल में मंगलवार को कोरोना की जांच कराने आये छात्रों ने शोर-शराबा किया तो सुरक्षाकर्मियों ने जमकर लाठियां बरसा दी। इसमें एक छात्र गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसके दाहिने पैर की हड्डी टूट जाने की बात कही जा रही है। जख्मी छात्र आरा मुफस्सिल थाना क्षेत्र के भेल डुमरा गांव निवासी योगी सिंह का पुत्र अंकित कुमार है। वह सेना बहाली में जाने के लिये कोरोना की जांच कराने अस्पताल आया था। घटना मंगलवार की दोपहर ओपीडी परिसर में हुई। 

अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों के अचानक लाठी भांजने से परिसर में अफरातफरी मच गयी। घटना के बाद सिविल सर्जन एलपी झा ने मामले की जांच कराने और दोषी गार्डों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है। जख्मी छात्र अंकित ने बताया कि सेना में बहाली में जाने के लिये वह कोरोना जांच कराने आया था। इसके लिए वह ओपीडी में लाइन में खड़ा था। इस दौरान लाइन में खड़े कुछ लड़के शोर मचाने लगे। तभी अस्पताल के चार-पांच गार्ड पहुंचे और ताबड़तोड़ लाठियां भांजने लगे। इससे वह गिर गया। इसके बावजूद लाठियां बरसायी जाती रही। इसमें उसके दाहिने पैर की हड्डी टूट गयी। वहीं मौके पर मौजूद जगदीशपुर की रंभा देवी के अनुसार अस्पताल के सुरक्षा कर्मी अचानक छात्रों पर लाठियां बरसाने लगे। इसमें कई छात्र जख्मी हुए हैं और गिरते-पड़ते भाग गये।

पहले गार्डों ने छात्रों को पीटा, बाद में सीएस ने जताया खेद 
अस्पताल के सुरक्षाकर्मियों द्वारा छात्रों की पिटाई किये जाने की सूचना पर सिविल सर्जन एलपी झा भी मौके पर पहुंचे। जख्मी छात्र से मिल सीएस ने हालचाल पूछा और घटना की पूरी जानकारी ली। उन्होंने घटना पर खेद जताया और कहा कि तहकीकात करायी जा रही है। पता किया जा रहा है कि यह घटना क्यों हुई? उन्होंने कहा कि दोषी सुरक्षार्मियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। दोषी गार्ड को हटाया भी जायेगा। 

बुधवार को सेना बहाली की दौड़, एक रोज पहले ही टूट गई हड्डी
सदर अस्पताल के सुरक्षा गार्डों की करतूत भेल डुमरा के छात्र अंकित पर भारी पड़ गयी। सुरक्षा कर्मियों की पिटाई के कारण वह सेना की बहाली में भाग लेने से वंचित रह गया। पैर की हड्‌डी टूट जाने के कारण वह कुछ दिनों तक दौड़ भी नहीं सकेगा। इससे सेना में जाने के उसके सपनों पर ग्रहण लगता दिख रहा है। अंकित के अनुसार बुधवार को ही सेना बहाली की दौड़ है। उसमें उसे भी जाना था। दौड़ के पहले कोरोना जांच का सर्टिफिकेट जमा करना था। उसी सिलसिले में वह मंगलवार की सुबह सदर अस्पताल आया था। जांच के लिए लाइन में लगा था। इसी बीच कुछ लड़कों द्वारा शोर मचाया जाने लगा। शोर सुन अस्पताल के चार-पांच सुरक्षाकर्मी पहुंचे और लाठियां बरसाने लगे। दो गार्डों ने बेहरमी से उसकी पिटाई की, जिससे वह गंभीर रूप से जख्मी हो गया। उसके दाहिने पैर के जांघ की हड्डी टूट गयी है।

Most Popular